पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुजफ्फरनगर..रेस्टोरेंट कर्मी के हत्यारोपी दबोचे:NH-58 पर ओडिशा के नरेश की कर दी थी हत्या, दोनों हत्यारे पुलिस की गोली लगने से घायल

मुजफ्फरनगर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना मंसूरपुर क्षेत्र के नावला कोठी के समीप रविवार रात हुई मुठभेड़ में पुलिस की गोली लगने से घायल बदमाश को अस्पताल पहुंचाती पुलिस। - Money Bhaskar
थाना मंसूरपुर क्षेत्र के नावला कोठी के समीप रविवार रात हुई मुठभेड़ में पुलिस की गोली लगने से घायल बदमाश को अस्पताल पहुंचाती पुलिस।

मुजफ्फरनगर के थाना मंसूरपुर क्षेत्र में नेशनल हाइवे-58 पर 17 नवंबर की रात नमस्ते इण्डिया में स्थित नवैद्यम रेस्टोरेन्ट के दो कर्मचारियों पर गोलियां बरसा दी गई थी। जिनमें ओडिशा निवासी एक कर्मी नरेश मलिक पुत्र कमलकान्त की मौके पर मौत हो गई थी, जबकि दूसरा कर्मी सुदर्शन पुत्र डुल गोविन्द घायल हुआ था। पुलिस ने रविवार रात मुठभेड़ के बाद रेस्टोरेंट कर्मी के दो हत्यारोपियों को दबोच लिया। पुलिस की गोली पैर में लगने से दोनों हत्यारोपी घायल हो गए।

सीओ जानसठ शकील अहमद ने बताया कि थाना मंसूरपुर पुलिस रविवार रात को क्षेत्र के नावला कोठी पर चेकिंग कर रही थी। इस दौरान बाइक पर दो संदिग्ध आते नजर आए। जिन्हें पुलिस ने रुकने का इशारा किया। लेकिन बदमाशों ने रुके बिना पुलिस पर फायरिंग कर दी। बताया कि पुलिस ने बचाव में फायरिंग की तो दोनों बदमाश पैर में गोली लगने से घायल हो गए। जिन्हेंं अस्पताल पहुंचाया गया।

थाना मंसूरपुर क्षेत्र के नावला कोठी के समीप रविवार रात हुई मुठभेड़ में पुलिस की गोली लगने से घायल बदमाश को अस्पताल पहुंचाती पुलिस।
थाना मंसूरपुर क्षेत्र के नावला कोठी के समीप रविवार रात हुई मुठभेड़ में पुलिस की गोली लगने से घायल बदमाश को अस्पताल पहुंचाती पुलिस।

घायल होने के बाद दबोचे बदमाशों की हुई पहचान

पुलिस के अनुसार मुठभेड़ में घायल होने के बाद दबोचे गए बदमाशों की पहचान वंश आनन्द पुत्र सुभाष चन्द्र निवासी सैनी नगर माल गोदाम रोड थाना खतौली जनपद मुजफ्फरनगर व रविश नवाज कुरैशी उर्फ नन्दू पुत्र मौ. दिलशाद निवासी ग्राम कवाल थाना जानसठ जनपद हाल पता इस्लाम नगर कस्बा व थाना खतौली जिला मुजफ्फरनगर के रूप मेंं हुई।

पूछताछ में रेस्टोरेंट कर्मियों पर गोली चलाना कबूला

सीओ जानसठ शकील अहमद ने बताया कि मुठभेड़ में घायल दोनों बदमाशों ने पूछताछ में बताया कि 17 नवंबर की रात नवैद्यम रेस्टोरेंट से ड्यूटी खत्म कर लौट रहे दोनों कर्मियों पर हाईवे पर उन्होंने ही गोली चलाई थी। सीओ ने दावा किया कि दोनों बदमाशों से वही बाइक बरामद कर ली गई जिसका प्रयोग हत्या की घटना अंजाम देने में किया गया था। दो तमंचे व सात जिंदा कारतूस भी बरामद किये गए।

नावला कोठी पर मुठभेड़ के बाद मौजूद प्रभारी निरीक्षक थाना मंसूरपुर मुकेश कुमार गौतम व अन्य पुलिस कर्मी ।
नावला कोठी पर मुठभेड़ के बाद मौजूद प्रभारी निरीक्षक थाना मंसूरपुर मुकेश कुमार गौतम व अन्य पुलिस कर्मी ।

बाइक टकराने से झगड़े के चलते किया था हमला

सीओ जानसठ शकील अहमद ने बताया कि पूछताछ में सामने आया कि चार दिन पूर्व दोनों बदमाशों ने झगड़े के बाद दोनों कर्मियों पर फायरिंग की थी। उन्होंने बताया कि अभियुक्तों की मोटरसाइकिल नरेश मलिक से टकरा गयी थी। जिस कारण नरेश मलिक व अभियुक्तों में झगडा हुआ था। झगडे के चलते अभियुक्तों ने नरेश मलिक पुत्र कमलकान्त व सुदर्शन पुत्र डुल गोविन्द पर फायरिंग कर दी। जिससे नरेश मलिक की मौके पर ही मौत हो गयी थी।