पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुजफ्फरनगर..पंकज मलिक ने किया चरथावल से नामांकन:साईकिल के निशान पर चुनाव लड़ेंगे पंकज मलिक, बुढाना सीट से रालोद के राजपाल बालियान ने भरा पर्चा

मुजफ्फरनगर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रिटर्निंग अधिकारी के सामने नामांकन करते सपा प्रत्याशी पंकज मलिक।

दो बार के पूर्व विधायक पंकज मलिक ने चरथावल विधानसभा सीट से चुनाव के लिए सोमवार को नामांकन कर दिया। पंकज मलिक बघरा तथा शामली से विधायक रह चुके हैं। जबकि बुढाना सीट से नामांकन के लिए सपा-रालोद गठबंधन प्रत्याशी राजपाल बालियान भी पहुंचे। राजपाल बालियान दो बार बुढाना से विधायक रह चुके हैं। उन्हें रालोद के चुनाव निशान नल पर इलेक्शन लड़ाया जा रहा है।

14 जनवरी से नामांकन पत्र भरे जाने की तिथि घोषित होने के बावजूद पहला नामांकन सोमवार को दाखिल किया गया। चरथावल विधानसभा सीट से उम्मीदवारी के लिए सपा नेता पंकज मलिक ने अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। सपा जिलाध्यक्ष प्रमोद त्यागी उनके साथ रहे। पंकज मलिक साईकिल के निशान पर चुनाव लड़ेंगे। पंकज कांग्रेस के टिकट पर दो बार विधायक बन चुके हैं। करीब तीन माह पहले ही पंकज मलिक अपने पिता तथा पूर्व सांसद हरेन्द्र मलिक के साथ कांग्रेस छोड़कर सपा में आए थे। पंकज मलिक को सपा ने चरथावल विधानसभा सीट से चुनाव लड़ाने की घोषणा की थी। सोमवार को पंकज मलिक ने कचहरी पहुंच कर चरथावल विधानसभा सीट से नामांकन पत्र दाखिल किया।

बुढाना सीट से नामांकन करते रालोद प्रत्याशी राजपाल बालियान।
बुढाना सीट से नामांकन करते रालोद प्रत्याशी राजपाल बालियान।

राजपाल बालियान भी किया नामांकन

चरथावल सीट से पंकज मलिक के नामांकन करने के कुछ देर बाद बुढाना से गठबंधन प्रत्याशी घोषित किये गए राजपाल बालियान भी नामांकन किया। दो बार विधायक रह चुके राजपाल बालियान को गठबंधन प्रत्याशी घोषित किया गया है। वह नल के निशान पर चुनाव लड़ेंगे। रालोद नेता तथा दो बार के पूर्व विधायक राजपाल बालियान की उम्मीदवारी घोषित होने के बाद भाकियू राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने भी उन्हें समर्थन देने की घोषणा की थी। राजपाल बालियान सपा जिलाध्यक्ष प्रमोद त्यागी के साथ नामांकन करने पहुंचे।

छावनी में तब्दील मुजफ्फरनगर कलक्ट्रेट

नामांकन के मद्देनजर सुरक्षा इंतजाम कड़े किये गए। जिसके चलते कलक्ट्रेट को छावनी में तब्दील किया गया है। मुख्य गेट पर पुलिस का कड़ा पहरा है तथा उम्मीदवार एवं चुनाव के आयोग के निर्देशानुसार ही उसके प्रस्तावकों तथा अन्य को भीतर प्रवेश दिया जा रहा है। भीतर प्रवेश से पहले कड़ी चेकिंग की जा रही है।

खबरें और भी हैं...