पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुजफ्फरनगर में 256 लोग मिले कोरोना पॉजिटिव:जिले में 2103 पहुंची एक्टिव मामलों की संख्या, चार मरीज अस्पताल में भर्ती

मुजफ्फरनगर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Money Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

जिले के 256 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। रविवार को 93 मरीज कोरोना नेगेटिव हो गए हैं। जिले में एक्टिव संक्रमित मरीजों की संख्या अब 2103 पर पहुंच गई है। सीएमओ के मुताबिक, इंटीग्रेटेड कमांड और कंट्रोल सेंटर से होम आइसोलेशन के पात्र मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति की निरंतर निगरानी की जा रही है।

सीएमओ डॉ. एमएस फौजदार ने बताया कि स्वास्थ्य महानिदेशालय ने इस बार कोविड को मात देने के लिए समिति द्वारा निर्धारित दवाओं की सूची जारी करने के साथ ही कोरोना से निपटने के लिए की गईं तैयारियों और बरती जाने वाली सावधानियों का भी जिक्र किया है। बताया कि पत्र के मुताबिक, इंटीग्रेटेड कमांड और कंट्रोल सेंटर से होम आइसोलेशन के पात्र मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति की निरंतर निगरानी की जा रही है।

किसी होम आइसोलेटेड मरीज के लक्षण युक्त हो जाने या उसे चिकित्सकीय सहायता की जरूरत होने पर इलाज और सलाह की सुविधा मिल रही है। इसके अलावा जन सामान्य को कोविड से बचाव के उपायों और प्रदेश में उपलब्ध कोविड की जांच व इलाज की उपलब्ध सेवाओं के बारे में अवगत कराया जा रहा है। चिकित्सीय सलाह की सुविधा पूरे समय के लिए उपलब्ध है।

ई-संजीवनी एप से मरीजों को दी जा रही सलाह

सीएमओ डा. एमएस फौजदार ने बताया कि ई-संजीवनी एप के माध्यम से घर पर ही अनुभवी चिकित्सकों द्वारा मुफ्त कंसल्टेंसी की सुविधा दी जा रही है। सरकारी टीकाकरण केंद्रों पर मुफ्त कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रों पर मुफ्त कोविड जांच और लक्षण युक्त व्यक्तियों के लिए उपचार की सुविधा मौजूद है।

हेल्पलाइन नंबर-1800-180-5145 व 104 पर लें मदद

सीएमओ ने बताया कि विशेष परिस्थितियों में हेल्पलाइन नंबर- 1800-180-5145 और 104 नंबर की भी मदद ली जा सकती है। कहा कि ध्यान देने वाली बात यह है कि यदि परिवार में कोई व्यक्ति कोविड पाजिटिव है तो होम आइसोलेशन के नियमों का पालन करें और घर से बाहर न निकलें। इसके अलावा यदि खुद कोविड के लक्षणों से ग्रसित हैं तो खुद को परिवार के अन्य सदस्यों से दूर रखें और घर से बाहर न निकलें।

इन परिस्थितियों में हेल्पलाइन या डॉक्टर से संपर्क करें

लगातार कई दिनों तक 101 डिग्री से अधिक का बुखार

सांस फूलना और सांस लेने में परेशानी होना

पल्स ऑक्सीमीटर से नापने पर ऑक्सीजन का स्तर 94 फीसदी से कम आना

भ्रम की स्थिति उत्पन्न होने पर

छोटे बच्चों में कोविड के लक्षण दिखने पर

बुखार, खांसी, जुकाम

लगातार रोना

दूध/खुराक लेना बंद कर देना

दस्त लगना

पसली चलना

निढाल पड़ जाना

12 वर्ष से अधिक के लोगों में कोविड के लक्षण

बुखार, खांसी, जुकाम व थकावट

सिर दर्द और बदन दर्द

स्वाद या गंध की चेतना का चला जाना

बुखार के साथ दस्त आना

बुखार के साथ त्वचा पर चकत्ते पड़ जाना

खबरें और भी हैं...