पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

मुजफ्फरनगर..कैराना विधायक पर मारपीट के मुकदमे की फाईल बंद:नाहिद हसन पर लगा था टीवी चैनल फोटो जर्नलिस्ट को बंधक बनाने का आरोप, पुलिस ने दी थी क्लीन चिट

मुजफ्फरनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन का फोईल फोटो। - Money Bhaskar
कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन का फोईल फोटो।

वादी मुकदमा ने स्वास्थ्य तथा पारिवारिक स्थिति का हवाला देते हुए कैराना विधायक पर दर्ज मारपीट व बंधक बनाने का मुकदमा आगे चलाने से इंकार कर दिया। जिस पर कोर्ट ने मुकदमे की फाइल बंद कर दी। मुकदमे की विवेचना कर पुलिस पहले ही फाइनल रिपोर्ट लगाकर क्लीन चिट दे चुकी थी।

18 फरवरी 2016 को एक टीवी चैनल की टीम कवरेज के लिए कैराना से सपा विधायक नाहिद हसन के घर पहुंची थी। टीम में शामिल फोटो जर्नलिस्ट ने कैराना कोतवाली में उसी दिन मुकदमा दर्ज कराते हुए विधायक तथा उनके समर्थकों पर पूरी टीम से मारपीट करते हुए कमरे में 45 मिनट तक बंधक बनाने का आरोप लगाया था। आरोप था कि उनका कैमरा छीन लिया गया था, तथा चैनल पर कवरेज न दिखाने की धमकी दिये जाने के बाद वापस किया था। पुलिस ने इस मामले में विधायक तथा 20-25 अज्ञात समर्थकों के विरुद्ध मारपीट, धमकी देने सहित बंधक बनाने के आरोप व आइटी एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था।

2019 में विवेचना कर लगा दी थी एफआर

सपा विधायक नाहिद हसन तथा 20-25 अज्ञात समर्थकों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने विवेचना की थी। जिसके बाद 2019 में साक्ष्य न मिलने पर पुलिस ने कोर्ट में एफआर दाखिल कर दी थी।

एफआर पर आपत्ति को किया गया था समन

पुलिस के मुकदमे में एफआर लगाए जाने के बाद विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट ने वादी मुकदमा को समन किया था। जिसके बाद वादी मुकदमा ने कोर्ट में स्वयं शपथ पत्र देकर बताया कि उसे एफआर या अंतिम आख्या स्वीकार है, तथा स्वास्थ्य एवं पारिवारिक स्थिति के कारण वह मुकदमा आगे चलाना नहीं चाहता।

मुकदमे की फाइल बंद करने का दिया निर्णय

वरिष्ठ अधिवक्ता अशोक कुमार सिंह ने बताया कि कोर्ट में व्यक्तिगत तौर से पेश होकर वादी मुकदमा के एफआर स्वीकार करने तथा मुकदमा आगे चलाने से इंकार करने पर विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट के जज गोपाल उपाध्याय ने अंतिम आख्या को स्वीकार कर लिया।

खबरें और भी हैं...