पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %

मुजफ्फरनगर..जिला अस्पताल में हाईवोल्टेज ड्रामा:भ्रष्टाचार के विरोध में प्रदर्शन को गए मनेश गुप्ता की अस्पताल कर्मियों से नोकझोंक

मुजफ्फरनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सामाजिक कार्यकर्ता मनेश गुप्ता को हिरासत में लेकर जाती पुलिस। - Money Bhaskar
सामाजिक कार्यकर्ता मनेश गुप्ता को हिरासत में लेकर जाती पुलिस।

शनिवार को जिला अस्पताल में हाईवोल्टेज ड्रामा हुआ। जिले में आरटीआइ तो कभी मनरेगा को लेकर अभावग्रस्त लोगों के अधिकारों की लड़ाई लड़ने वाले सामाजिक कार्यकर्ता मनेश गुप्ता व अस्पताल कर्मियों के बीच जमकर नोकझोंक हुई। मनेश गुप्ता व उनके संगठन की महिला कार्यकर्ताओं ने अस्पताल कर्मियों पर धक्का मुक्की का आरोप लगाते हुए शहर कोतवाली में तहरीर दी। मनेश गुप्ता को पुलिस ने अस्पताल कर्मियों की शिकायत पर घसीटते हुए जीप में डाल लिया। जिसके बाद उन्हें शहर कोतवाली ले जाया गया। इस दौरान पुलिसकर्मी ये भी भूल गए कि मनेश गुप्ता एक वरिष्ठ नागरिक तथा सामाजिक कार्यकर्ता हैं।

सीएमएस कार्यालय में शांति सेना अध्यक्ष मनेश गुप्ता से भिड़ते अस्पताल कर्मचारी।
सीएमएस कार्यालय में शांति सेना अध्यक्ष मनेश गुप्ता से भिड़ते अस्पताल कर्मचारी।

सामाजिक संगठन शांति सेना की कमान संभाल रहे एड. मनेश गुप्ता शनिवार को भ्रष्टाचार की शिकायत लेकर महिला कार्यकर्ताओं संग जिला अस्पताल पहुंचे थे। वह सीएमएस डा. पंकज अग्रवाल से उनके कक्ष में वार्ता कर ही रहे थे कि हंगामा हो गया। वार्ता के दौरान मनेश गुप्ता को सीएमएस कार्यालय में कुर्सी पर बैठने के लिए कहा गया। लेकिन उन्होंने अपनी महिला कार्यकर्ताओं के लिए कुर्सी छोड़ दी। जब वे कुर्सी पर नहीं बैठी तो मनेश गुप्ता ने महिला कार्यकर्ताओं को धमकाकर बैठने को कहा। इसी दौरान सीएमएस कार्यालय में मौजूद अस्पताल कर्मियों ने मनेश गुप्ता पर जाति सूचक शब्दों के प्रयोग का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया।

मनेश गुप्ता के साथ कार्यालय में की गई धक्कामुक्की

सीएमएस कार्यालय में मनेश गुप्ता के साथ पुलिस की मौजूदगी में ही अस्पताल कर्मियों ने धक्कामुक्की की। वरिष्ठ नागरिक तथा सामाजिक कार्यकर्ता के साथ अस्पताल कर्मियों का यह व्यवहार अनैतिक और दुर्भावनापूर्ण रहा।

जिला अस्पताल में हंगामे के दौरान का दृष्य।
जिला अस्पताल में हंगामे के दौरान का दृष्य।

पुलिस हिरासत में भी लगाते रहे भ्रष्टाचार विरोधी नारे

जाति सूचक शब्दों के प्रयोग का आरोप लगाते हुए अस्पताल कर्मियों ने मनेश गुप्ता की गिरफ्तारी की मांग की। जिसके बाद पुलिस उन्हें जबरन गाड़ी में डाल शहर कोतवाली ले गई। इस दौरान पुलिस हिरासत में भी मनेश गुप्ता भ्रष्टाचार के विरोध में नारेबाजी करते रहे।

शांति सेना की महिलाओं ने कर्मियों पर लगाए आरोप

अस्पताल कर्मियों के आरोप पर पुलिस शांति सेना अध्यक्ष मनेश गुप्ता को हिरासत में लेकर शहर कोतवाली ले गई थी। जहां शांति सेना महिला कार्यकर्ता भी पहुंच गई। शांति सेना की महिला कार्यकर्ता राखी, उपासना आदि ने पुलिस को तहरीर देकर आरोप लगाया कि अस्पताल कर्मियों ने उनके साथ धक्का-मुक्की की।

शहर कोतवाली प्रभारी निरीक्षक आनंद देव मिश्रा का कहना है कि अस्पताल कर्मियों ने शांति सेना अध्यक्ष पर आरोप लगाया था कि बिना अनुमति प्रदर्शन किया गया। उस पर पुलिस ने कार्रवाई की। हांलाकि मनेश गुप्ता का कहना है कि प्रदर्शन के लिए पूर्व में लिखित जानकारी दी गई थी।

खबरें और भी हैं...