पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फर्जी हस्ताक्षर कर बैंक खाते से उड़ाए 9.5 लाख:मुजफ्फरनगर में प्रीति गुप्ता ने पति शरद सहित सास व ससुर पर कराई धोखाधड़ी में FIR

मुजफ्फरनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो। - Money Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो।

मुजफ्फरनगर पुलिस ने एक महिला की शिकायत पर उसके पति सहित तीन लोगों पर धोखाधड़ी कर 9.5 लाख रुपये बैंक खाते से ट्रांसफर कराने के आरोप में एफआइआर दर्ज की है। महिला का उसके पति से विवाद चल रहा है। जिसके चलते 2 माह से वह अलग रह रही है।

क्या है रुपयो की धोखाधड़ी का मामला

मूल रूप से सुशांत सिटी गुरूग्राम हरियाणा निवासी प्रीति गुप्ता की शादी नगर के ब्रह्मपुरी मोहल्ला निवासी शरद गुप्ता से हुई है। प्रीति गुप्ता ने एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर बताया था कि उसके पति शरद गुप्ता, सास कमलेश तथा ससुर सुशील ने उसके साथ धोखाधड़ी की है। बताया कि उसे उसके पिता स्व. योगेशचंद ऐरन ने उसके तथा बेटे की परवरिश एवं भरण पौषण के लिए 9 लाख रुपये दिये थे। जो पैसा क्रमश: 8 व 1 लाख कर उसके खाते में ट्रांसफर कर एफडी करा दी गई थी। आरोप है कि उसके पति शरद गुप्ता तथा सास व ससुर ने उसकी जानकारी में लाए बिना धोखे से उसके फर्जी हस्ताक्षर कर 9.50 लाख अपने खाते में ट्रांसफर करा लिये।

बैंक ने नहीं सुनी, थाने से भी टरकाया

प्रीति गुप्ता का आरोप है कि जब धोखाधड़ी की शिकायत लेकर व संबंधित बैंक शाख पीएनबी नई मंडी गई तो वहां अधिकारियों ने उसकी एक नहीं सुनी तथा उसे टरका दिया। जिसके बाद उसने नई मंडी थाना पुलिस से मामले की शिकायत की। लेकिन पुलिस वालों ने उसे मामला सुलझाने का आश्वासन देकर वापस भेज दिया। एफआइआर दर्ज नहीं हुई तो उसने एसएसपी अभिषेक यादव से मामले की शिकायत की। जिसके उपरांत एसएसपी के आदेश पर नई मंडी थाना पुलिस ने मामले की एफआइआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

खबरें और भी हैं...