पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

मुजफ्फरनगर...कश्यपों ने खून से लिखा मोदी को पत्र:17 जातियों को आरक्षण न देने पर भाजपा का बहिष्कार, सामूहिक आत्मदाह की चेतावनी

मुजफ्फरनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कलेक्ट्रेट में धरना देकर प्रधानमंत्री को खून से पत्र लिखकर आरक्षण की मांग करते प्रदेश फिशरमैन कांग्रेस कमेटी के लाेग। - Money Bhaskar
कलेक्ट्रेट में धरना देकर प्रधानमंत्री को खून से पत्र लिखकर आरक्षण की मांग करते प्रदेश फिशरमैन कांग्रेस कमेटी के लाेग।

उत्तर प्रदेश फिशरमैन कांग्रेस कमेटी के तत्वावधान में कलेक्ट्रेट पर चल रहे धरने के 32वें दिन प्रदेश की 17 जातियों को आरक्षण देने की मांग की गई। धरना दे रहे कश्यप समाज के लोगों ने अपने खून से राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आरक्षण की मांग की है। मत्स्य पालन, बालू, मोरंग आदि के लिए पट्‌टे आवंटन की मांग की।

लोगों ने कहा कि आज कश्यप समाज भाजपा की वादा खिलाफी से दुखी होकर अपने खून से पत्र लिखा। कश्यप समाज ने भाजपा को चेतावनी दी कि यदि इस शीतकालीन सत्र मे सरकार ने हमारा आरक्षण लागू नहीं किया तो भाजपा के किसी भी नेता को गांव में घुसने नहीं दिया जाएगा। कश्यप समाज एक भी वोट भाजपा को नहीं देगा तथा सामूहिक आत्मदाह कर लेगा।

प्रधानमंत्री को पत्र लिखने के लिए खून देते फिशरमैन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष देवेंद्र कश्यप और साथ में समाज के अन्य लोग।
प्रधानमंत्री को पत्र लिखने के लिए खून देते फिशरमैन कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष देवेंद्र कश्यप और साथ में समाज के अन्य लोग।

जमीन पर माफियाओं का कब्जा

प्रदेश प्रमुख महासचिव सुरेश पाल कश्यप ने कहा कि आजादी के बाद कांग्रेस पार्टी की सरकार ने मछुआ समुदाय के लिए बहुत सारे ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं। मछुआ समुदाय को मजबूत करने के लिए कांग्रेस पार्टी ने मछली पालन के लिए तालाब के पट्टे मछुआ समुदाय के लोगों के नाम आरक्षित किए। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने नदियों के किनारे की जमीन सब्जी की खेती करने के लिए कश्यप, निषाद समाज के लोगों के नाम की। लेकिन, 32 साल से प्रदेश में कांग्रेस की सरकार न होने के कारण सपा, बसपा, भाजपा की सरकारों ने मछुआ समुदाय के लोगों के पुश्तैनी धंधो को कमजोर करने का काम किया। उनके पुश्तैनी धंधों की जमीन पर माफिया का कब्जा हो गया।

प्रदेश उपाध्यक्ष कांग्रेस पिछड़ा विभाग जयभगवान कश्यप ने कहा कि मुलायम सिंह यादव एवं अखिलेश यादव ने 17 जातियों के आरक्षण के नाम पर इन जातियों को गुमराह कर वोट लेने का काम किया। 10 अक्टूबर 2005 को केंद्र की कांग्रेस सरकार के तत्कालीन मंत्री श्रीप्रकाश जयसवाल के 17 जातियों के प्रस्ताव को आगामी सत्र में सदन में पास करने के बयान के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने उसी दिन 17 जातियों को अनुसूचित जाति में शामिल करने का असंवैधानिक शासनादेश जारी कर दिया। खून से पत्र लिखने वालों में मुख्य रूप से जयभगवान कश्यप, मनोज कश्यप, संजीव कश्यप, आनंद कश्यप, सोमपाल कश्यप, राजीव कश्यप, रामबीर कश्यप, डॉ रविन्द्र कुमार पाल, सौरभ कश्यप, भोपाल कश्यप, बॉबी कश्यप, अंकुश कश्यप, विशाल कश्यप, अंकुश कश्यप,अश्वनी कुमार, सतवीर कश्यप, अजय कश्यप आदि लोग उपस्तिथ रहे।

खबरें और भी हैं...