पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

'अब अगर नहीं चेता तो भविष्य और भयावह होगा':इन्फ्लेक्टर इंडिया के सह-संस्थापक पहुंचे खतौली, ग्लोबल वॉर्मिंग को लेकर लोगों को किया जागरूक

खतौली (मुजफ्फरनगगर)3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्लोबल वॉर्मिंग और बढ़ता प्रदूषण आज विश्व की बड़ी समस्या बनी हुई है। ऐसी स्थिति में विश्व को ग्लोबल वॉर्मिंग से बचाने के लिए राजस्थान के जिले झुंझुनू के साधारण किसान परिवार में जन्मे संदीप चौधरी ने सबसे बड़ा मिशन चुना है।

वे शहर और कस्बों में जाकर जिम्मेदार लोगों को ग्लोबल वार्मिंग और प्रदूषण के खतरे के बारे में आगाह कर रहे हैं। शुक्रवार को संदीप खतौली एक कार्यक्रम में पहुंचे। उन्होंने जिम्मेदार लोगों को बढ़ते प्रदूषण और ग्लोबल वॉर्मिंग के बारे में जानकारी दी। कहा कि अगर अभी नहीं चेता तो आने वाला समय और भी भयावह होगा।

कई अवॉर्ड से हो चुके हैं सम्मानित
संदीप, पर्यावरण को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए काम रही इन्फ्लेक्टर इंडिया में सह-संस्थापक हैं। उन्हें कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। हाल ही में सबसे बड़े सख्यित अवॉर्ड से ओडिशा के राज्यपाल द्वारा सम्मानित किया गया। बीती 5 जून पर्यावरण दिवस पर ग्लोबल बिजनेस अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।

संदीप ने बताया कि वह जब जयपुर गए तो उन्होंने विभिन्न क्षेत्रों में कोशिश की। फिल्म उद्योग और उसके बाद शेयर ट्रेडिंग की। इसके बाद वह पृथ्वी को बचाने के लिए इस दुनिया के सबसे बड़े मिशन में जुट गए। इसके लिए संदीप ने 50 मिलियन डॉलर कंपनी अपने फिन-टेक स्टार्टअप बैंक साथी टेक्नोलॉजिज को भी छोड़ दिया। अब वे देश के लिए सच्चे पर्यावरणविद के रूप में काम कर रहे हैं।

संदीप ने नगर के गणमान्य लोगों के साथ बैठक की।
संदीप ने नगर के गणमान्य लोगों के साथ बैठक की।

धरती पर मंडरा रहा है खतरा
बताया कि वे कस्बे और शहर के जिम्मेदार लोगों को जागरूक करते हैं। उनसे यह अपील करते हैं कि वो अब शहर के लोगों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करें। संदीप चौधरी के अनुसार, अत्यधिक ग्लोबल वॉर्मिंग के कारण वर्ष 2040 तक पृथ्वी पर बड़ा खतरा मंडराएगा। धरती को बचाने के लिए इस सबसे बड़े आंदोलन में यस फाउंडेशन भी उनके साथ शामिल है।

बताया कि पेड़ पौधे ज्यादा से ज्यादा लगाएं, ताकि ग्लोबल वॉर्मिंग को रोका जा सके। इसके बढ़ने से भविष्य में स्वास्थ्य संबंधी खतरा भी बढ़ रहा है।

खबरें और भी हैं...