पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बुढ़ाना....नए कोतवाल के आते ही सट्टेबाजों की आई शामत:हजारों की नकदी के साथ पांच सटोरिया भेजें जेल

बुढ़ानाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बुढ़ाना कोतवाली के नये प्रभारी निरीक्षक रवेंद्र सिंह यादव ने आज गुरुवार को कोतवाली का चार्ज संभालते ही सबसे पहले सट्टे की खाईबाडी पर लगाम लगाने का काम किया। उन्होंने 5 सटोरियों को हजारों रुपयों की नगदी व अन्य सामान के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

नये कोतवाल की इस कार्यवाही से अवैध धंधा करने वालों में हड़कंप मचा है। आज गुरुवार को दिन निकलने से पहले ही अर्धरात्रि में मुजफ्फरनगर जिले के एसएसपी अभिषेक यादव ने बुढ़ाना कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक जितेंद्र यादव को किसी मामले में लाइन हाजिर कर उनके स्थान पर अपने वाचक रवेंद्र सिंह यादव को बुढ़ाना कोतवाली का नया प्रभारी बनाया।

उन्होंने आज कोतवाली का चार्ज संभालते ही सबसे पहले सट्टे की खाईबाडी को बंद करने के उद्देश्य से 5 सटोरियों को बाबा पीरशाह विलायत से मुखबिर की सटीक सूचना के आधार पर पुलिस टीम भिजवाकर गिरफ्तार करवाया।

पुलिस टीम में बुढ़ाना कस्बा इंचार्ज अनिल कुमार, कांस्टेबल प्रेमचंद शर्मा, कांस्टेबल सुधीर कुमार व कांस्टेबल विनय कुमार थे। टीम ने मौके से पांचों सटोरियों के पास से करीब 12 हजार रुपए, सट्टे की पर्चियां, पेन, केलकुलेटर व गत्ता बरामद किया।

पुलिस सबको कोतवाली लाई व पूछताछ की तो उन्होंने अपने नाम सलीम पुत्र सफीक निवासी सफीपुर पट्टी, प्रमोद पुत्र पीतम निवासी वैल्ली, कलीम पुत्र साजिद निवासी बिलाल मस्जिद, अहसान उर्फ मासूम पुत्र जर्रार निवासी शाहवाडा व बिट्टू उर्फ मनोज पुत्र सुखबीर निवासी ग्राम वैल्ली बुढाना बताया। बुढ़ाना पुलिस ने लिखापढ़ी कर सभी सटोरियों को जेल भेज दिया है।

खबरें और भी हैं...