पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

CM कर गए ऐलान लेकिन गरीबों को नहीं मिले मकान:MDA में फिर हंगामा करने पहुंचे प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी

मुरादाबादएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुरादाबाद विकास प्राधिकरण दफ्तर पर मकानों की चाबियां लेने पहुंचे प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी। - Money Bhaskar
मुरादाबाद विकास प्राधिकरण दफ्तर पर मकानों की चाबियां लेने पहुंचे प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी।

2 नवंबर को मुरादाबाद में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 1744 लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के मकान सौंपने का ऐलान किया था। CM ने कहा था कि गरीब दिवाली का दीया इस बार अपने घर में जलाएंगे। लेकिन CM का ये दावा पूरा नहीं हो सका।

दिवाली बीत चुकी है और प्रधानमंत्री आवास योजना के आवंटी अभी तक घर की चाबी के लिए चक्कर लगा रहे हैं। चाबी नहीं मिलने से गुस्साए आवंटियों ने सोमवार को फिर से MDA (मुरादाबाद विकास प्राधिकरण) ऑफिस पर हंगामा किया। इससे पहले 2 नवंबर काे CM के जाते ही आवंटियों ने एमडीए ऑफिस पर मुख्यमंत्री की हाय- हाय के नारे लगाए थे।

CM ऐलान कर गए तो चाबी क्यों नहीं देते
MDA ऑफिस पर पहुंची गीता तिवारी का कहना है कि जब मुख्यमंत्री ने चाबियां देने की घोषणा कर दी तो अधिकारी चाबियां क्यों नहीं दे रहे हैं। जबकि मुख्यमंत्री ने 2 नवंबर को मुरादाबाद में मंच से कहा था कि आवंटी दिवाली अपने नए घर में मनाएंगे। गीता का कहना है कि जिस दिन मुख्यमंत्री आए उस दिन MDA से 4-4 बार उनके पास फोन गया कि मकान की चाबी लेने आ जाओ। लेकिन पहुंचने पर घंटों इंतजार के बाद भी चाबी नहीं दी। मुख्यमंत्री के जाते ही आवंटियों को बैरंग लौटा दिया गया।

मैंने ब्याज पर पैसे लेकर जमा किए

प्राधिकरण गेट पर मकान की चाबी के इंतजार में पहुंची ममता का कहना है कि उन्होंने 10 फीसदी के ब्याज पर पैसा लेकर एमडीए में जमा किया था। 2 साल हो गए लेकिन मकान आज तक नहीं मिला। ममता का कहना है कि मंच से मकान देने की घोषणा करना और फिर चाबी नहीं देना, गरीबों का मजाक है।

CM योगी आदित्यनाथ 2 नवंबर को ही 1744 लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के भवनों की चाबी सौंपने का ऐलान कर गए थे। लेकिन आवंटियों को चाबियां आज तक नहीं मिली हैं।
CM योगी आदित्यनाथ 2 नवंबर को ही 1744 लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के भवनों की चाबी सौंपने का ऐलान कर गए थे। लेकिन आवंटियों को चाबियां आज तक नहीं मिली हैं।

अफसरों की लापरवाही ने करा दी CM के खिलाफ नारेबाजी

मुरादाबाद विकास प्राधिकरण के अफसरों ने पूरा होम वर्क किए बगैर की प्रधानमंत्री आवास योजना के 1744 मकानों का चाबी वितरण कार्यक्रम रखवा दिया। मुख्यमंत्री से मंच से घोषणा भी करा दी। लेकिन मुख्यमंत्री का दौरा खत्म होने के 7 दिन बाद भी MDA आवंटियों को मकानों की चाबियां नहीं दे सका है। प्राधिकरण अधिकारियों का कहना है कि मकानों की किस्तें पूरी नहीं हुई हैं। सवाल उठता है कि यदि आवंटियों की किश्तें पूरी नहीं हुई थीं तो फिर मुख्यमंत्री के हाथों चाबी वितरण का कार्यक्रम क्यों रखवाया गया। मकानों को सरल किस्तों पर देने के विकल्प पर एमडीए काम क्यों नहीं कर रहा है। VC मधुसूदन हुल्गी खुद कह चुके हैं कि 1744 में से सिर्फ 1008 मकान ही तैयार हुए हैं। बाकी के 736 मकानों में अभी सीवर, पेयजल और बिजली की व्यवस्था होना बाकी है। बिना किसी तैयारी के मकानों का चाबी वितरण कार्यक्रम कराकर अफसरों ने सरकार की फजीहत करा दी है। 2 नवंबर को मुख्यमंत्री के मुरादाबाद के जाते ही चाबी नहीं मिलने से नाराज आवंटियों ने MDA दफ्तर में योगी हाय- हाय के नारे लगाए थे।

MDA ऑफिस पर जुटे लोग।
MDA ऑफिस पर जुटे लोग।

सेक्रेटरी बोले- बैंक से फाइनेंस कराएंगे
MDA सेक्रेटरी सर्वेश कुमार गुप्ता का कहना है कि आवंटियों द्वारा पूरा पैसा जमा नहीं किए जाने की वजह से प्रधानमंत्री आवास योजना के मकानों की चाबी नहीं दी जा सकी हैं। उन्होंने बताया कि बैंकर्स को बुलाया गया है। आवंटियों की बाकी बची किस्तों को बैंक से फाइनेंस कराने की कोशिश की जा रही है। सचिव का कहना है कि एक सप्ताह में मसले को हल करके आवंटियों को चाबियां सौंप दी जाएंगी।