पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मिर्जापुर में पकड़े गए तीन ठग:नौकरी दिलाने के लिए वसूलते थे पैसे, जीजा ने दिखाया था क्राइम का रास्ता

मिर्जापुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
साइबर सेल ने 3 साइबर ठगी के आरोपियों को बुलन्द शहर से किया गिरफ्तार - Money Bhaskar
साइबर सेल ने 3 साइबर ठगी के आरोपियों को बुलन्द शहर से किया गिरफ्तार

मिर्जापुर में वेबसाइट के माध्यम से एक प्राइवेट बैंक में नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाले 3 शातिर आरोपियों को साइबर सेल पुलिस ने गिरफ्तार किया । जिन्होंने अपने जीजा के कहने पर लोगों को नौकरी के बहाने ठगने का काम शुरू किया था। तीनों ने झांसा देकर युवक से करीब 2.76 लाख की धोखाधड़ी की थी। जिसकी पुलिस ने शिकायत दर्ज करवाई थी। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और तीनों की गिरफ्तार कर मामले का खुलासा किया है। तीनों को साइबर सेल ने बुलन्दशहर से गिरफ्तार किया है।

नौकरी के नाम पर देते थे झांसा

आरोपियों ने आयुष को प्राइवेट बैंक में नौकरी दिलाने के नाम पर अलग अलग मद से 2 लाख 76 हजार रुपए से अधिक वसूल था। शिकायत मिलने पर मामला दर्ज किया गया। विवेचना के दौरान मामले में बुलन्दशहर निवासी भविश कौशिक, मोनु यादव एवं अरुण कुमार को गिरफ्तार किया गया। ​​​​​

जीजा ने सिखाया फ्रॉड का रास्ता

प्रभारी श्यामबहादुर यादव ने बताया कि पुलिस के हाथ लगने पर पूछताछ में अरुण यादव ने बताया कि मोनू मेरा चचेरा भाई है । भविश कौशिक मेरा दोस्त है । अमित मेरा जीजा है जो नोएडा में रहता है। मेरा जीजा आये दिन हम लोगों से बताता था कि आज के समय में किसी के साथ नौकरी करने में कोई फायदा नहीं है। अपना खुद का व्यवसाय करना चाहिए। मै अपना स्वयं का व्यवसाय करके प्रतिदिन अच्छा खासा पैसा कमा लेता हूं। उनकी बात सुनकर हम तीनों लोगों ने भी उनके साथ काम करने का मन बना लिया। उनके द्वारा जैसा बताया जाता था उसी तरीके से हम लोग भी कार्य करने लगे। धीरे धीरे हम लोग भी धोखाधड़ी का कार्य सीख गये । लोगों को आनलाईन धोखा देकर उनके खाते से पैसा ट्रान्जेक्शन कर लेते है ।

बुलन्दशहर की टीम ने ठगों को पकड़ा

साइबर ठगों को पकड़ने वाली टीम में प्रभारी निरीक्षक श्यामबहादुर यादव, उप निरीक्षक चन्द्रशेखर यादव, कांस्टेबल अमित कुमार सिंह, निशान्त मिश्रा, आशुतोष कुमार सिंह एवं चालक हेड कांस्टेबल मेराज अहमद शामिल रहें।

खबरें और भी हैं...