पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %

मिर्जापुर के शिव मंदिर में हत्या:बरामदे में सो रहे व्यक्ति को डंडे से वार कर मार डाला, खून से सना मिला पुजारी को शव

मिर्जापुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राधेश्याम 6 साल से शिव शंकरी धाम व आसपास रहकर अपना जीवनयापन कर रहा था। - Money Bhaskar
राधेश्याम 6 साल से शिव शंकरी धाम व आसपास रहकर अपना जीवनयापन कर रहा था।

मिर्जापुर के शिवशंकरी धाम मंदिर के बरामदे में 55 साल के व्यक्ति की निर्मम हत्या कर दी गई। बुधवार सुबह करीब 8 बजे पुजारी मंदिर पहुंचा तो खून देखकर दंग रह गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने खून से लथपथ शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। मृतक के सिर पर चोट के गहरे निशान मिले हैं। पुलिस ने बताया कि मंदिर में ताला तोड़कर चोरी का प्रयास किया गया है। विरोध पर व्यक्ति की हत्या की आशंका है। मामले की छानबीन जारी है।

खून से सना मिला मृतक
मामला चुनार थाना क्षेत्र के कैलहट बाजार का है। यहां स्थित शिवशंकरी धाम मंदिर में राधेश्याम बीते 6 साल से सो रहा था। पुलिस के मुताबिक, देर रात बदमाशों ने मंदिर का ताला तोड़ने की कोशिश की तो राधेश्याम जाग गया। बदमाशों ने उसके सिर पर डंडे से वार किया। घटना में उसकी मृत्यु हो गई। सुबह पुजारी संदीप पाण्डेय जब मौके पर पहुंचे तो राधेश्याम खून से सना हुआ फर्श पर पड़ा हुआ था।

शिव शंकरी मंदिर का ताला तोड़ने के साथ ही उसके पीछे शनि और विश्वकर्मा मंदिर का भी ताला तोड़ने का प्रयास किया गया। हालांकि वहां कोई चोरी नहीं हुई है।
शिव शंकरी मंदिर का ताला तोड़ने के साथ ही उसके पीछे शनि और विश्वकर्मा मंदिर का भी ताला तोड़ने का प्रयास किया गया। हालांकि वहां कोई चोरी नहीं हुई है।

दूसरे मंदिरों में भी चोरी की कोशिश हुई
सूचना पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक अजय कुमार ने घटनास्थल का इंस्पेक्शन किया। उन्होंने आंशका जताई है कि चोर मंदिर का दरवाजा तोड़ने का प्रयास कर रहे होंगे। इसी बीच राधेश्याम की नींद खुल गई होगी। उसके आवाज देने पर चोरों ने भारी चीज से वार कर उसकी हत्या कर दी होगी। पुलिस के मुताबिक, शिव शंकरी मंदिर के साथ ही उसके पीछे शनि और विश्वकर्मा मंदिर का भी ताला तोड़ने का प्रयास किया गया है। हालांकि, वहां कोई चोरी नहीं हुई है।

आंशका है कि चोर मंदिर का दरवाजा तोड़ने का प्रयास कर रहे होंगे। इसी बीच राधेश्याम जाग गया होगा।
आंशका है कि चोर मंदिर का दरवाजा तोड़ने का प्रयास कर रहे होंगे। इसी बीच राधेश्याम जाग गया होगा।

10 साल पहले इसी मंदिर में हुई थी हत्या
करीब 10 साल पहले इसी मंदिर में पुजारी कमलाकांत पाण्डेय की 29 नवंबर 2010 को निर्मम हत्या की गई थी। परिसर में हत्या से क्षेत्र मे आक्रोश व भय व्याप्त है।

खबरें और भी हैं...