पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिना स्टैंड पालिका ने काटा रसीद, आटो चालक परेशान:आटो स्टैंड के अभाव में सड़क से सवारियों की सेवा, यातायात व्यवस्था पर हो रहा चोट

मिर्जापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विंध्याचल प्रशासनिक भवन में आटो स्टैंड की मांग को लेकर पहुंचे आटो चालक - Money Bhaskar
विंध्याचल प्रशासनिक भवन में आटो स्टैंड की मांग को लेकर पहुंचे आटो चालक

विंध्यचाल मेला में अस्थाई आटो स्टैंड के नाम पर दस हजार रुपए जमा करने के बाद भी आटो चालक भटकने को विवश हैं । मेला में सेवा के बदले कमाई की मंशा पर पानी फिरता नजर आ रहा है । इससे झुब्ध होकर आटो चालक विंध्याचल स्थित प्रशासनिक भवन में पहुंचे । नगर मजिस्ट्रेट को पत्रक सौंपकर मेला के दौरान निहुत महावीर मंदिर के पास पूर्व की भांति ऑटो स्टैंड को चलवाने की मांग की । बताया कि नगर पालिका परिषद ने स्टैंड के नाम पर 10 हजार का रसीद भी काटकर शुल्क वसूल किया है ।

नगर मजिस्ट्रेट को सौंपा गया पत्रक
नगर मजिस्ट्रेट को सौंपा गया पत्रक

स्टैंड के नाम पर वसूला 10 हजार

ऑटो रिक्शा चालक सेवा समिति के कमलेश कुमार का आरोप है कि मेला में कोरोना काल के 2 वर्ष बाद अस्थाई स्टैंड पूर्व की तरह चलाने के लिए पत्र दिया गया था । नगर मजिस्ट्रेट विनय कुमार के कहने पर नगर पालिका परिषद के अधिशासी अधिकारी अंगद ने समिति के लोगों के साथ स्थलीय निरीक्षण किया था । स्टैंड के लिए 10 हजार रूपया जमा कराया गया । उसके बावजूद स्टैंड नहीं खोलने दिया जा रहा है । सड़क पर खड़े होकर सवारियों का इंतजार करना पड़ रहा है।

नगर पालिका परिषद ने बिना व्यवस्था दिए वसूला 10 हजार, ठगा महसूस कर रहे आटो चालक
नगर पालिका परिषद ने बिना व्यवस्था दिए वसूला 10 हजार, ठगा महसूस कर रहे आटो चालक

सरकारी उपेक्षा से कई समस्या हुई पैदा

इस दौरान उन्हें जाने से लोगों में उनका कहना है कि वह मेला क्षेत्र में श्रद्धालुओं सेवा करके अपना उपार्जन करते हैं । नगर पालिका परिषद के नियम के अनुसार उन्होंने रुपया भी जमा किया । इसके बावजूद ऑटो चालक चालकों को परेशान कर सरकार की मंशा को तार-तार किया जा रहा है ।

पालिका ने 9 दिन का वसूला 10 हजार, फिर भी सुविधा नदारद

नवरात्रि के केवल 9 दिन के लिए पैसा जमा कराया गया तो उन्हें नियमानुसार स्टैंड चलाने की स्वीकृति देनी चाहिए । आटो चालकों के साथ ही दर्शनार्थियो को भटकना पड़ रहा है । जो कही से भी शुभ संकेत नहीं है । नगर पालिका ने अपनी लचर व्यवस्था से ऑटो चालकों को ठगने का काम किया गया है । ऑटो चालकों ने नगर मजिस्ट्रेट को पत्रक सौंप कर न्याय की गुहार लगाई है । अस्थाई वाहन स्टैंड को खोले जाने के लिए त्वरित कार्रवाई कि किए जाने की मांग की हैं । ताकि श्रद्धालुओं को दिक्कतों का सामना न करना पड़े ।

खबरें और भी हैं...