पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बुद्ध पूर्णिमा पर विंध्याचल धाम में उमड़ी भीड़:श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई आस्था की डुबकी, माता के दरबार में किए दर्शन-पूजन

मिर्जापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बुद्ध पूर्णिमा पर मां विंध्यवासिनी के धाम में लाखों की तादाद में दर्शन पूजन कर भक्तों ने नमन किया। विभिन्न प्रान्तों से धाम में आए भक्तों ने लक्ष्मी स्वरूपा मां विंध्यवासिनी का पूजन-अर्चन कर मन्नत मांगी। विश्व को प्रिय और विश्व को अपने मन के अनुकूल करने वाली मां लक्ष्मी के दरबार में पहुंचे भक्तों ने चिलचिलाती धूप में 43 डिग्री तापमान की परवाह न करते हुए दरबार में मत्था टेका।

पूर्णिमा तिथि पर विंध्याचल धाम में पहुंचे तमाम भक्तों ने गंगा स्नान कर मां विंध्यवासिनी के दरबार में हाजिरी लगाई। 2 वर्ष बाद मिली राहत को बनाए रखने की कामना की गई। पूर्णिमा तिथि पर कई शुभ फल दायक योग बनने से भक्तों की संख्या में भी वृद्धि हुई है। चिलचिलाती धूप की परवाह किए बिना भक्त मां विंध्यवासिनी के दर्शन के लिए बेताब रहे।

भारी भीड़ के चलते लोगों को कतार में घंटों लगने के बाद मां के दरबार में हाजिरी लगाकर दर्शन-पूजन और प्रार्थना करने का मौका मिला। हाथ में नारियल, चुनरी, फूल-माला, प्रसाद और कलावा लेकर डटे भक्तों ने जयकारा लगाकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।

मां की मनोहारी छवि निहार भक्त हुए मंत्रमुग्ध
मां के धाम में पहुंचे भक्त लक्ष्मी स्वरूपा मां विंध्याचल रानी की एक झलक पाकर मंत्र मुग्ध रहे। माता के दर पर हाजिरी लगाने के बाद भक्तों को यह विश्वास है कि मां की कृपा से सब कुशल मंगल होगा।

धाम से गंगा घाट तक पुलिस रही मुस्तैद
विंध्याचल में उमड़ी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस के जवान मुस्तैद रहे। जगह-जगह पुलिस बल को तैनात किया गया था। गंगा घाटों पर भी भक्तों की सुविधा और हादसे को टालने के लिए पुलिस की ड्यूटी लगाई गई थी। तमाम भक्तों ने झांकी से ही दर्शन कर माता विंध्यवासिनी के दरबार में हाजिरी लगाई।

खबरें और भी हैं...