पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लालगंज में गहराता जा रहा पेयजल संकट:गांव के अंतिम छोर पर जलस्तर गिरा, पीने के पानी तक को तरस रहे लोग

लालगंज (मिर्जापुर)एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लालगंज के पठारी क्षेत्रों में पेयजल का संकट दिन प्रति दिन गहराता जा रहा है। मुख्य शहर से काफी दूर यूपी सीमा के अंतिम छोर पर देवरी बाजार में पेयजल के लिए हाहाकार मचा हुआ है। क्षेत्र के पठारी गांवों में जलस्तर नीचे होने से ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। देवरी बाजार में पेयजल की भीषण समस्या को देखते हुए ग्रामीण बगल के मनिगढ़ा गांव स्थित कुएं से पानी लाकर पीने के लिए विवश हैं।

देवरी बाजार में पेयजल आपूर्ति के लिए पन्द्रह वर्ष पूर्व जल निगम द्वारा ट्यूबेल मशीन लगाकर पाइप लाइन के माध्यम से पेयजल आपूर्ति की जा रही थी। लगातार जलस्तर नीचे गिरने से नलकूप ने भी अब पानी देना छोड़ दिया है। पेयजल की भीषण समस्या के बावजूद ब्लाक प्रशासन व ग्राम पंचायत द्वारा टैंकर के माध्यम से पेयजल आपूर्ति नही करवाए जाने पर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है।

पानी के लिए झड़प करते लोग
पानी के लिए झड़प करते लोग

ग्रामीणों ने जताया भारी आक्रोश

ग्रामीण देवरी बाजार निवासी रामानंद के सबमर्सिबल से पेयजल के लिए पानी लेते थे लेकिन तीन दिनों से बोर ने भी पानी देना छोड़ दिया है। जिससे देवरी बाजार के लोगों के सामने पेयजल का गंभीर संकट पैदा हो गया है। ग्रामीण अजय दुबे, दिलीप अग्रहरि,ओम प्रकाश अग्रहरि, वकील पटेल, रामसागर, रमाशंकर गुप्ता, योगेश अग्रहरि, रतनलाल अग्रहरि आदि ने बताया कि नलकूप, हैंडपंप व बोरिंग सूखने के कारण पेयजल की भीषण किल्लत है। पड़ोसी के मनिगढ़ा गांव के राम-जानकी कुटी स्थित पुराने कुंए से पानी लाकर पी रहे हैं।

टैंकर के इंतजार में खड़े ग्रामीण
टैंकर के इंतजार में खड़े ग्रामीण

टैंकर से भी नहीं हो पा रही जलापूर्ति

टैंकर से पेयजल आपूर्ति नही किए जाने पर ग्रामीण खरीदकर पानी पीने के लिए मजबूर हैं। छानवे विधायक राहुल का राह देख रहे ग्रामीणों ने पेयजल संकट को देखते हुए देवरी बाजार में टैंकर के माध्यम से पेयजल आपूर्ति करवाए जाने की जिलाधिकारी से मांग किया है।

एडीओ ने ग्राम सचिव को दिए निर्देश

इस संबंध में एडीओ पंचायत अरूण कुमार मिश्र ने बताया कि जलस्तर नीचे जाने से देवरी बाजार में पेयजल संकट को देखते हुए टैंकर के माध्यम से पेयजल आपूर्ति करवाए जाने के लिए ग्राम सचिव को निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...