पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

AIMIM ने सपा विधायक-महापौर के गुमशुदा बैनर लगाए:मेरठ में लिखा- MLA रफीक अंसारी और महापौर सुनीता वर्मा लापता

मेरठ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मेरठ शहर में AIMIM ने विवादित बैनर लगाए हैं। यह पोस्टर लिसाड़ीगेट समेत अलग-अलग इलाकों में लगाए गए हैं। इनमें सपा विधायक रफीक अंसारी और मेरठ की महापौर सुनीता वर्मा की फोटो भी हैं। इनके बारे में लिखा है कि सपा विधायक और महापौर दोनों गुमशुदा हैं। रास्तों में गंदगी का अंबार लगा है, गड्‌ढे हैं। जनता परेशान है और वह एक बार भी नहीं पहुंचे।

गुहार लगाने के बाद नहीं आ रहे सपा विधायक

लिसाड़ीगेट में लगाया गया पोस्टर।
लिसाड़ीगेट में लगाया गया पोस्टर।

मेरठ शहर में बुनकर नगर, विकास पुरी, किदवई नगर और इस्लामाबाद रोड पर जलभराव की समस्या है। 4 माह से बुलाने के बाद भी शहर सीट से सपा विधायक रफीक अंसारी नहीं पहुंचे। जनता परेशान हो चुकी है, लेकिन न तो शहर विधायक न मेयर जनता के बार बार गुहार लगाने के बावजूद कोई सुध लेने को तैयार हैं। इस इलाके में लाखों को आबादी रहती है हाल ये है लोग घरों से नही निकल पा रहे हैं।

विकासपुरी से जाने वाले रास्ते पर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन द्वारा लगाया गया बैनर।
विकासपुरी से जाने वाले रास्ते पर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन द्वारा लगाया गया बैनर।

बच्चे स्कूल पढ़ने कैसे जाएं
बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं। मस्जिदों में नमाज पढ़ने जाना दुशवार है बकरीद के मौके पर लोग कुरबानी तक नहीं कर पाए। कारोबार का हाल ये है कि लोगों ने दुकानें खाली करना शुरू कर दिया है। जनता त्राहि त्राहि कर रही है लेकिन न निगम से कोई मदद है न विधायक निधि का मुंह खुला। क्या यही दिन देखने के लिए जनता ने इन दोनों प्रतिनिधियो को चुन कर निगम और विधानसभा भेजा था।

किदवई नगर में लगाया गया बैनर।
किदवई नगर में लगाया गया बैनर।

ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन
​​​​​​​
यह बैनर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन के सौजन्य से लगाए गए हैं। इमरान अंसारी महानगर अध्यक्ष ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन ने कहा कि ओवैसी के सिपाही मेरठ में मौजूद हैं और हम सवाल कर रहे हैं बताइए। यहां इंसान नही बसते क्या? इन लोगो ने आप को वोट नहीं दिया? फिर ये बेरुखी क्यों? इलाका 4 महीने से पानी में डूबा है और आप दोनों में से किसी ने इस इलाके के लोगो के बीच पहुंच कर उनका दर्द सुनना भी गंवारा नही समझा।

लिसाड़ीगेट इलाके में लगाया गया बैनर।
लिसाड़ीगेट इलाके में लगाया गया बैनर।
खबरें और भी हैं...