पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिजली कनेक्शन काटने के नाम पर साइबर फ्रॉड:मेरठ में PVVNL ने 45 लाख लोगों को भेजे SMS कनेक्शन काटने के नाम पर न करें भुगतान

मेरठ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मेरठ में अब पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के नाम पर जनता से साइबर फ्रॉड हो रहा है। जनता को बिजली कनेक्शन काटने पर ठगा जा रहा है। PVVNLने 45 लाख से अधिक लोगों को मैसेज भेजकर इस साइबर फ्रॉड से सतर्क रहने के लिए अलर्ट किया है।

पैसे दो वरना कनेक्शन काट देंगे
पीवीवीएनएल के नाम पर जनता से कनेक्शन काटने के बहाने ठगी की जा रही है। 10 अंकों के मोबाइल नंबर से पहले लोगों को बिजली कनेक्शन काटने का मैसेज भेजा जा रहा है। उपभोक्ताओं को धमकी दी जा रही है कि तुरंत इस नंबर पर संपर्क करो अन्यथा कनेक्शन काट देंगे। जब उपभोक्ता उस नंबर पर कॉल करता है तो उसे ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने को कहा जा रहा है। पीवीवीएनएल के नाम पर कई लोगों को इस फ्रॉड का शिकार बनाया गया है। पीवीवीएनएल ने ऐसे लोगों से अलर्ट रहने को कहा है।

UPPCLT / UPPCLA हैडर से आधिकारिक सूचना
पीवीवीएनएल अपने उपभोक्ताओं को किसी भी प्रकार की सूचना या कनेक्शन काटने का मैसेज केवल UPPCLT / UPPCLA हैडर से ही भेजता है। उपभोक्ताओं के पंजीकृत मोबाईल नम्बर पर भेजी जाती है।

मेरठ डीएम के नाम पर 2 बार साइबर फ्रॉड
पीवीवीएनएल के अलावा पिछले 5 महीनों में मेरठ में जिलाधिकारी दीपक मीणा के नाम पर 2 बार लोगों से साइबर फ्रॉड हो चुका है। इसमें 10 नंबर वाले एक मोबाइल नंबर को व्हाट्सएप पर चालू किया गया। इस व्हाट्सएप पर डीएम दीपक मीणा की फोटो को प्रोफाइल पिक में लगाया गया। इसके बाद इस नंबर से अफसरों और नेताओं को व्हाट्सएप मैसेज भेजे गए। व्हाट्एसप के जरिए डीएम के नाम पर गिफ्ट देने, वाउचर देने और पैसे का भुगतान करने की बात कही गई। दो बार इस तरह का फ्रॉड डीएम दीपक मीणा के नाम पर हो चुका है।