पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यूपी की पहली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी में उगी बड़ी-बड़ी घास:पीएम मोदी ने किया था 6 महीने पहले शिलान्यास, अब तक काम शुरू नहीं

मेरठएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

UP का पहला खेल विश्वविद्यालय मेरठ के सलावा में बनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 जनवरी 2022 को इसका शिलान्यास किया था। शिलान्यास हुए 6 महीने हो चुके हैं। अभी तक एक इंच जमीन पर भी काम शुरू नहीं हुआ है।

दैनिक भास्कर ने जब खेल विश्वविद्यालय की जमीन पर जाकर जायजा लिया, तो वहां बड़ी-बड़ी घास उगी हुई नजर आईं। आसपास के चरवाहे अपने मवेशियों को यहां लेकर आए थे। 700 करोड़ रुपए की लागत से तैयार होने वाले इस खेल विश्वविद्यालय का नाम मेजर ध्यानचंद के नाम पर रखे जाने की घोषणा प्रधानमंत्री मोदी और सीएम योगी पहले ही कर चुके हैं।

जहां पीएम मोदी ने खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया, वहां स्थानीय व्यक्ति अपने पशु चराता नजर आया।
जहां पीएम मोदी ने खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया, वहां स्थानीय व्यक्ति अपने पशु चराता नजर आया।

कुलपति रजिस्ट्रार की नियुक्ति तक नहीं
शिलान्यास कार्यक्रम को 6 महीने हो गए हैं। अभी तक यूपी के पहले खेल विश्वविद्यालय के कुलपति की नियुक्ति तक नहीं हुई है। न ही रजिस्ट्रार की नियुक्ति हुई। कुलपति के नियुक्त होने के बाद ही खेल विश्वविद्यालय के काम की शुरूआत हो सकती है। अभी तक यहां खेल विभाग भी सिर्फ खानापूर्ति कर रहा है। निर्माण कार्य लोक निर्माण विभाग द्वारा कराया जाएगा। IIT रुड़की की टीम भी निरीक्षण कर चुकी है।

ये सुविधाएं दी जानी हैं
सिंथेटिक हॉकी मैदान, ओलंपिक स्तरीय स्वीमिंग पूल, फुटबाल मैदान, कबड्डी ग्राउंड, लॉन टेनिस कोर्ट, सिंथेटिक रनिंग स्टेडियम, साइकिल वेलोड्रोम और अन्य खेल आदि।

2 जनवरी 2022 को हुआ था शिलान्यास

यह फोटो मेरठ के सलावा में 2 जनवरी 2022 को लिया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी ने यूपी के पहले खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया था।
यह फोटो मेरठ के सलावा में 2 जनवरी 2022 को लिया गया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीएम योगी ने यूपी के पहले खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया था।

मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय मेरठ का शिलान्यास 2 जनवरी 2022 को सरधना में गंगनहर के किनारे सलावा में किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल, सीएम योगी आदित्यनाथ भी शिलान्यास कार्यक्रम में मौजूद रहे।

यह विश्वविद्यालय मेरठ शहर से 38 किमी की दूरी पर बनाया जाएगा। साल 2024 के अंत या 2025 की शुरुआत में इसे पूरा किया जाना था। अभी खेल विश्वविद्यालय की फाइल कागजों में ही चल रही है, जमीन पर कुछ नहीं हुआ।

91 एकड़ जमीन पर बनेगा खेल विश्वविद्यालय

खेल विश्वविद्यालय का यह इंटरनेट से लिया गया प्रस्तावित मॉडल है।
खेल विश्वविद्यालय का यह इंटरनेट से लिया गया प्रस्तावित मॉडल है।

प्रदेश का पहला खेल विश्वविद्यलाय 91 एकड़ जमीन पर बनकर तैयार होगा। यह जमीन गंगनहर के किनारे है। यहां से दो किमी की दूरी पर जिला मुजफ्फरनगर की सीमा भी शुरू हाे जाती है। खेल विश्वविद्यालय की दो बार डीपीआर बन चुकी है। इस विश्वविद्यालय में आउटडोर, इनडोर और वॉटर गेम्स और अन्य खेलों के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी।

सभी प्रकार के खेलों के लिए यहां जगह दी गई है। खिलाड़ियों के लिए भी सभी आवश्यक सुविधाओं को दिया जाएगा।

यह फोटो 1 जनवरी 2022 की मेरठ के सलावा की है। शिलान्यास कार्यक्रम से एक दिन पहले यहां तैयारियां जोर शोर से चल रहीं थी।
यह फोटो 1 जनवरी 2022 की मेरठ के सलावा की है। शिलान्यास कार्यक्रम से एक दिन पहले यहां तैयारियां जोर शोर से चल रहीं थी।

मुख्य बातें

  • खेल विश्वविद्यालय में पहले साल 1080 खिलाड़ियों को ट्रेनिंग देने का लक्ष्य।
  • पहले साल में 540 महिला और 540 पुरुष खिलाड़ी को ट्रेनिंग दी जानी है।
  • साल 2024 के लास्ट या 2025 की शुरूआत में यह बनकर तैयार होना है।
खबरें और भी हैं...