पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वेस्ट UP में बारूद का कारोबार ले रहा जान:धौलाना की तरह मेरठ में सेकंडभर में 3 मकान ढह गए, फॉरेंसिक जांच में विस्फोटक मिले

मेरठ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

वेस्ट UP में बारूद का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है। इसका अंदाजा एक-एक कर हो रही विस्फोट की घटनाओं से लगाया जा सकता है। हापुड़ के धौलाना में अवैध तरह से चल रही फैक्ट्री में विस्फोट में 13 लोगों की जान गई थी और 20 गंभीर रूप से झुलसे थे। इस हादसे को प्रशासन भूला भी नहीं था कि सोमवार शाम मेरठ के लिसाड़ीगेट क्षेत्र में समर गार्डन में विस्फोट हो गया। तीन मकान ढह गए। एक की मौत हो गई और 9 लोगों को मलबे से निकाला गया।

विस्फोट इतना भीषण था कि आसपास के घरों में दरार आ गईं। यहां मौके पर फटा हुए गैस सिलेंडर के साथ पुलिस ने विस्फोटक सामग्री मिलने की पुष्टि की है। इससे साफ है कि अवैध तरह से पटाखे बनाए जा रहे थे।

NCR में प्रतिबंधित हैं पटाखे बनाने
एनजीटी के आदेश के तहत NCR में पटाखे बनाने प्रतिबंधित हैं, लेकिन उसके बाद भी अवैध तरह से पटाखे बनाने का काम चल रहा है। मेरठ, शामली, सहारनपुर, हापुड़ और आसपास के जिलों में पटाखों से विस्फोट होने पर जान जा रही हैं। हर हादसे के वही जांच का आश्वासन दिया जाता है, लेकिन आखिर इन मौतों का जिम्मेदार कौन है। इसका जवाब पुलिस प्रशासन के पास नहीं है।

मेरठ में पटाखों से हुआ विस्फोट
मेरठ के लिसाड़ीगेट क्षेत्र के समर गार्डन में सोमवार शाम 4:10 बजे विस्फोट हुआ। इस विस्फोट में तीन मकान मलबे में तब्दील हो गए। आसपास के कई मकानों में विस्फोट से दीवार और शीशों को नुकसान पहुंचा। घटना के बाद डीएम दीपक मीणा, SSP रोहित सिंह सजवान भी मौके पर पहुंचे।

मेरठ के लिसाड़ीगेट में सोमवार को हुए विस्फोट में मलबे को हटाता बुलडोजर।
मेरठ के लिसाड़ीगेट में सोमवार को हुए विस्फोट में मलबे को हटाता बुलडोजर।

9 लोगों को मलबे से निकला गया। इसमें शमीमा (33) की मौत हो गई। 8 अन्य का रेस्क्यू किया गया। सुहेल की हालत नाजुक है। फॉरेंसिक यूनिट को मौके पर जांच में आतिशबाजी बनाए जाने के प्राथमिक प्रमाण प्राप्त हुए हैं। इंतजार का रिश्तेदार मुस्तकीम अवैध तरह से पटाखे बना रहा था, जिसके खिलाफ रात में FIR दर्ज की गई।

हापुड़ में फैक्ट्री में विस्फोट में गई 13 की जान

हापुड़ के धौलाना में हुए विस्फोट के बाद की फोटो। पूरी फैक्ट्री में मलबा ही मलबा नजर आ रहा है। इस विस्फोट में 13 लोगों की मौत हुई।
हापुड़ के धौलाना में हुए विस्फोट के बाद की फोटो। पूरी फैक्ट्री में मलबा ही मलबा नजर आ रहा है। इस विस्फोट में 13 लोगों की मौत हुई।

हापुड़ जिले के धौलाना में बिजली के उपकरण बनाने के लिए फैक्ट्री का लाइसेंस लिया गया। जहां इस फैक्ट्री में अवैध तरह से पटाखे बनाए जा रहे थे। 1 जून 2022 को विस्फोट में फैक्ट्री में आग लग गई। इस विस्फोट में 13 लोगों की मौत और 20 घायल हो गए। मौके पर पटाखे बनाए जाने की पुष्टि हुई थी।

सहारनपुर में पटाखों से हुआ था विस्फोट

सहारनपुर में विस्फोट के बाद की यह फोटो है। इस विस्फोट में 5 लोगों की जान गई थी। आग को बुझाते दमकल कर्मचारी
सहारनपुर में विस्फोट के बाद की यह फोटो है। इस विस्फोट में 5 लोगों की जान गई थी। आग को बुझाते दमकल कर्मचारी

सहारनपुर में 5 मई 2022 को बलवंतपुर के जंगल में फैक्ट्री में विस्फोट हुआ था। इसमें पांच लोगों की मौत हो गई थी। मौके पर भारी संख्या में पटाखे और बारूद मिले। इसके बाद सैंपल को फॉरेंसिक लैब में भेजा गया। इस विस्फोट की घटना की जांच पुलिस के अलावा अग्निशमन विभाग को भी सौंपी गई। विस्फोट के बाद जांच करने एटीएस की टीम भी पहुंची।

9 जनवरी 2022 को शामली में विस्फोट

शामली में विस्फोट के बाद मौके पर पटाखे मिले थे।
शामली में विस्फोट के बाद मौके पर पटाखे मिले थे।

शामली में बुटराड़ा गांव स्थित पटाखा फैक्टरी में 9 जनवरी को भीषण विस्फोट हुआ। हादसे में एक महिला की मौत हुई और 5 अन्य गंभीर रूप से घायल हुए। विस्फोट इतना जबरदस्त था कि काम कर रहे कई मजदूर के शरीर के चीथड़े उड़ गए। बुटराड़ा गांव में फैक्ट्री में अवैध तरह से पटाखे बनाए जा रहे थे।

17 नवंबर 2020 को मेरठ में विस्फोट

यह फोटो रसूलपुर में हुए विस्फोट के बाद की है। घायलों को एंबुलेंस से अस्पताल ले जाया गया।
यह फोटो रसूलपुर में हुए विस्फोट के बाद की है। घायलों को एंबुलेंस से अस्पताल ले जाया गया।

17 नवंबर 2020 को मेरठ के रसूलपुर में विस्फोट होने से चार मकानों की छत उड़ गई। इस हादसे में दो लोगों की मौत हुई। वहीं 10 लोग घायल हुए। पहले सिलेंडर फटने से हादसा बताया गया, लेकिन पुलिस की जांच में सामने आया है कि यहां अवैध तरह से पटाखे बनाए जा रहे थे।

मेरठ में कांग्रेस नेता के घर विस्फोट

यह फोटो 28 अक्टूबर 2020 की मेरठ के सरधना की है। विस्फोट से मकान ढह गया था।
यह फोटो 28 अक्टूबर 2020 की मेरठ के सरधना की है। विस्फोट से मकान ढह गया था।

28 अक्टूबर 2020 को मेरठ के सरधना में कांग्रेस नेता आसिम के मकान में भीषण विस्फोट हुआ। धमाका इतना जबरदस्त था कि आसपास का पूरा इलाका दहल उठा और कई मकानों के लेंटर गिर गए। वहीं, कई मकानों में दरार आ गई। घटना के चलते क्षेत्र में हड़कंप मच गया। इस हादसे में आसिम और उसके दोस्त कासिम की मौत हो गई थी। जबकि 9 अन्य लोग घायल हुए थे। पुलिस की जांच में आया था की मकान में पटाखे रखे हुए थे।