पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गुर्जर बिरादरी बदल सकती है सियासी समीकरण:वेस्ट UP की 20 सीटों को प्रभावित कर रहे गुर्जर, अवतार भड़ाना के RLD में आने से मुसीबत में BJP

मेरठ7 महीने पहलेलेखक: मनु चौधरी
  • कॉपी लिंक
दिल्ली में जयंत चौधरी के साथ भड़ाना। - Money Bhaskar
दिल्ली में जयंत चौधरी के साथ भड़ाना।

4 बार सांसद रहे और मीरापुर के मौजूद विधायक अवतार सिंह भड़ाना बुधवार को भाजपा छोड़ राष्ट्रीय लोकदल में शामिल हो गए। जयंत चौधरी की पार्टी से अब वह गुर्जर बाहुल्य इलाके गौतमबुद्धनगर की जेवर सीट से चुनाव लड़ेंगे। भड़ाना की पहचान हरियाणा व वेस्ट यूपी में गुर्जर बिरादरी में एक कद्दावर नेता के रूप में जानी जाती रही है।

वेस्ट यूपी की 20 सीटों पर गुर्जर बिरादरी का प्रभाव है। भाजपा के खिलाफ गठबंधन में समाजवादी पार्टी, आरएलडी, व एनसीपी कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती। गुर्जर बिरादरी की वोट नए सियासी समीकरण बदल सकती हैं।

गुर्जरों ने पांच साल नाराजगी झेली

योगी कैबिनेट में वेस्ट यूपी से किसी भी गुर्जर विधायक को शामिल नहीं गिया गया। पांच साल से भाजपा की योगी सरकार गुर्जरों के साथ अनदेखी करती रही। अब जब चुनावी शंखनाद हो चुका है तो भाजपा के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य के बाद पूर्व सांसद व मौजूदा मीरापुरा विधायक अवतार सिंह भड़ाना का भाजपा को बाय बाय कहने में दूसरा बड़ा नाम है। पहले चरण का चुनाव 10 फरवरी को वेस्ट यूपी से है। मेरठ, हापुड़, बिजनौर, गौतमबुद्धनगर, शामली, मुजफफरनगर, सहारनपुर, और मथुरा, अलीगढ़ में गुर्जर गठबंधन को फायदा पहुंचा रहे हैं।

सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा ने खड़ा किया विवाद

22 सितंबर 2021 को गौतमबुद्धनगर के दादरी में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण होना था। इसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल हुए। सीएम के आने से पहले मिहिर भोज के नाम के आगे से गुर्जर हटा दिया। जिसके बाद गुर्जर भड़क गए। सरकार के खिलाफ गुर्जर बिरादरी की माहपंचायत का दौर शुरू हो गया।

अपनी ही सरकार के खिलाफ भाजपा के मीरापुरा विधायक व पूर्व सांसद अवतार सिंह भड़ना समर्थकों के साथ इस महापंचायत में शामिल हुए। जहां गुर्जरों ने भाजपा के खिलाफ नाराजगी जताई। मिहिर भोज की प्रतिमा को लेकर ठाकुर और गुर्जर बिरादरी में पाला खिंच गया। 2017 से ही गुर्जर मान रहे थे की सरकार यूपी में एक बिरादरी को तवज्जो दे रही है।

20 सीट में से 18 पर भाजपा
वेस्ट यूपी की जिन 20 सीटों पर गुर्जर वोट बैंक प्रभाव रखते हैं। मौजूद समय में इनमें से 18 पर भाजपा का कब्जा है। कैराना समाजवादी पार्टी पर है और मांट बसपा पर है। लेकिन अब किसान आंदोलन के बाद और गुर्जर बिरादरी में भाजपा को लेकर माहौल बदला हुआ है। सपा और रालोद गठबंधन करके गुर्जर बिरादरी के वोट पर नजर रखे हुए है।

विधानसभा - गुर्जर वोट मौजूदा सीट
गढ़ - 32 हजार भाजपा
किठौर - 35 हजार भाजपा
मीरापुर - 20 हजार भाजपा
हस्तिनापुर - 65 हजार भाजपा
नकुड़ - 68 हजार भाजपा
सिकंद्राबाद - 80 हजार भाजपा
दादरी - 82 हजार भाजपा
नोएडा - 65 हजार भाजपा
लोनी - 60 हजार भाजपा
बागपत - 28 हजार भाजपा
पुरकाजी -30 हजार भाजपा
कैराना - 48 हजार सपा
हसनपुर - 26 हजार भाजपा
गंगोह - 25 हजार भाजपा
जेवर - 65 हजार भाजपा
सरधना - 36 हजार भाजपा
सिवालखास- 22 हजार भाजपा
मेरठ दक्षिण- 25 हजार भाजपा
मांट - 22 हजार बीएसपी
खैर - 21 हजार भाजपा