पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57200.23-0.13 %
  • NIFTY17101.95-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47875-1.15 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61247-2.76 %

वेस्ट यूपी में आज किसान फूंकेंगे, मोदी, शाह के पुतले:लखीमपुर खीरी कांड के खिलाफ किसान करेंगे प्रदर्शन, किसानों को रोकना होगी पुलिस की बड़ी चुनौती, अलर्ट जारी

मेरठ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखीमपुरी खीरी में 9 लोगों की मौत से गुस्साए किसान आज प्रधानमंत्री, यूपी के मुख्यमंत्री और केंद्रीय गृह मंत्री के पुतले फूंकेंगे। संयुक्त किसान मोर्चा के आव्हान पर देशभर में किसान मोदी, योगी और शाह के पुतले फूंककर विरोध जताएंगे। मेरठ सहित वेस्ट यूपी के सभी जिलों में 150 से अधिक स्थानों पर किसानों ने पुतला फूंकने की तैयारी कर ली है।

किसान नेता दिनेश त्यागी के घर पुलिस का पहरा
किसान नेता दिनेश त्यागी के घर पुलिस का पहरा

सरकार के खिलाफ प्रदर्शन से रोकने के लिए पुलिस, प्रशासन ने जिलों में अलर्ट जारी कर दिया है। पुलिस हर प्रकार से किसानों को पुतले फूंकने से रोकना चाहती है।

मुजफ्फरनगर, सहारनपुर में जहां चाहो वहीं पुतले दहन की योजना
भाकियू के गढ़ मुजफ्फरनगर में पुतला दहन के लिए कोई तय स्थान नहीं हैं। किसान जहां चाहें वहां विरोध जता सकते हैं। इसी प्रकार सहारनपुर में भी किसान यूनियन ने किसानों को खुली छूट दी है, गांव से लेकर जिला मुख्यालयों पर पुतले दहन होंगे। भाकियू राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत, गौरव टिकैत खुद विरोध में शामिल होंगे। शामली, बागपत, बिजनौर, संभल, अमरोहा में भी किसान पुतले जलाएंगे। टोल प्लाजा पर धरनारत किसान वहीं पुतले दहन कर विरोध करेंगे।

हापुड़ में किसान नेता को घर पर किया नजरबंद, किसानों को पुतला दहन से रोकने का पुलिस का प्रयास
हापुड़ में किसान नेता को घर पर किया नजरबंद, किसानों को पुतला दहन से रोकने का पुलिस का प्रयास

मेरठ में टोल सहित 15 स्थानों पर पुतला दहन
मेरठ में 15 स्थानों पर पुतला दहन किया जायेगा। भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष मनोज त्यागी ईकड़ी ने बताया की किला परीक्षितगढ़, हस्तिनापुर, सिवाया टोल प्लाजा, दबथुआ, छुर्र, करनावल, बहादुरपुर, जंगेठी, सकौती, घोपला, नंगला समेत 15 स्थानों पर पुतला दहन किया जायेगा। सभी स्थानों के लिए भाकियू नेताओं को जिम्मेदारी दी गई है। मेरठ में 3 बजे के बाद पुतला दहन किया जाएगा।

गांवों, चौपालों में हुई प्लानिंग
बलिदानी किसानों को न्याय की मांग और आरोपी की गिरफ्तारी के लिए किसान यह प्रदर्शन करेंगे। पुतला दहन की रणनीति बनाने के लिए पिछले 3 दिनों से गांवों, चौपालों में बैठकें हो रही हैं। यहां विरोध प्रदर्शन की रणनीति तय हो रही है। किसान नेता कुलदीप त्यागी ने बताया भाकियू और संयुक्त किसान मोर्चा के कार्यकर्ता लगातार जनसंपर्क कर रहे हैं। ताकि सभी किसान भाई अन्याय के खिलाफ इस लड़ाई में आवाज उठाएं। 16 अक्टूबर की शाम 4 बजे बजे पुतला दहन कार्यक्रम रखा गया है।

कई किसानों को पुलिस ने किया नजरबंद
किसानों को पुतला दहन से रोकना पुलिस की बड़ी चुनौती होगी। इसके चलते वेस्ट यूपी में अलर्ट जारी किया है। साथ ही शुक्रवार देर रात तक पुलिस, प्रशासन किसानों को समझाने का प्रयास करता रहा। लेकिन किसान नहीं माने। पुलिस ने कई किसानों को घर पर ही नजरबंद कर दिया है। हापुड़, मेरठ घोपला गांव सहित अन्य गांवों में पुलिस तैनात है।

18 को रेल रोकने की तैयारी
भाकियू नेताओं का कहना है की संयुक्त किसान मोर्चा पहले ही यह बयान जारी कर चुका है की 18 अक्टूबर को पूरे देश में किसान रेल रोकेंगे। किसानों की मांग है की जब तक तीनों काले कानून वापस नहीं होंगे किसानों की घर वापसी नहीं होगी। सरकार किसानों की मांगों को लेकर अनदेखी कर रही है। किसान एकजुटता के साथ लड़ रहा है।