पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भाकियू ने सरकार से मांगा अतिवर्षा मुआवजा:मेरठ में भारी बारिश से फसल को संकट, सरकार किसानों को मुआवजा देकर राहत दे

मेरठ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यह तस्वीर मेरठ के सरधना क्षेत्र की है जहां किसान खेत में खड़ा है खेत में घुटनों तक पानी भर गया है और पूरी फसल चौपट है - Money Bhaskar
यह तस्वीर मेरठ के सरधना क्षेत्र की है जहां किसान खेत में खड़ा है खेत में घुटनों तक पानी भर गया है और पूरी फसल चौपट है

मेरठ सहित पूरे एनसीआर और पश्चिमी यूपी में 2 दिन हो रही भारी बरसात के कारण फसल चौपट हो चुकी है। किसानों पर भारी संकट है। अधिक वर्षा के कारण खेतों में पानी भर गया है और पौध गिरने से फसल नष्ट हो चुकी है। भारतीय किसान यूनियन ने उत्तर प्रदेश सरकार से किसानों को मुआवजा देने की मांग की है। ताकि अन्नदाता अपनी नष्ट हो चुकी फसल के नुकसान से उबर सके।

चुनाव बाद किसान की ध्यान नहीं रहती

यह तस्वीर मेरठ मवाना की है जहां किसानों की धान की पूरी फसल बरसात के कारण बर्बाद हो चुकी है, गन्ना भी गिर चुका है
यह तस्वीर मेरठ मवाना की है जहां किसानों की धान की पूरी फसल बरसात के कारण बर्बाद हो चुकी है, गन्ना भी गिर चुका है

भाकियू पश्चिमी उत्तर प्रदेश के संगठन मंत्री राजकुमार करनावल ने कहा कि किसान मजदूर बेचारा आपदा ही झेलता है। उन पर कोई ध्यान नहीं देता। जब चुनाव आते हैं उनको सब याद करते हैं लेकिन बाद में भूल जाते हैं उन्होंने कहा कि बारिश न तेज तूफान से जो नुकसान हुआ है सरकार सभी जिले में आंकलन कराके नुकसान की भरपाई कराएं।

गन्ना, धान की फसल पर ज्यादा नुकसान
इस बरसात से गन्ना और धान की फसल को सबसे ज्यादा नुकसान हो रहा है। सब्जी उगाने वाले किसान भी दुखी है। सारी फसल नष्ट हो गई। वहीं गन्ना खेत में गिर गया है। धान और आम भी खत्म है। जो भी नुकसान किसानों का हुआ है वह सरकार जल्द से जल्द किसानों का मुआवजा कराएं।

खबरें और भी हैं...