पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मायावती के बर्थडे पर BJP को मिला गिफ्ट:सपा-रालोद गठबंधन के सामने बसपा ने मुस्लिम-दलित चेहरे उतारकर दिया सीधा फायदा

मेरठ8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वेस्ट यूपी की जिन 30 सीटों पर सपा-रालोद के प्रत्याशियों के सामने मायावती ने उम्मीदवारों को टिकट दिया है, वे गठबंधन का गणित बिगाड़ सकते हैं। - Money Bhaskar
वेस्ट यूपी की जिन 30 सीटों पर सपा-रालोद के प्रत्याशियों के सामने मायावती ने उम्मीदवारों को टिकट दिया है, वे गठबंधन का गणित बिगाड़ सकते हैं।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने अपने जन्मदिन पर पहले चरण के चुनाव के लिए प्रत्याशियों की लिस्ट जारी की है। इस लिस्ट के जरिए मायावती भाजपा को गिफ्ट देने की कोशिश करती दिख रही हैं। वेस्ट यूपी की जिन 30 सीटों पर पहले चरण का चुनाव होना है। वहां सपा-रालोद के प्रत्याशियों के सामने मायावती ने उम्मीदवारों को टिकट दिया है, वे गठबंधन का गणित बिगाड़ सकते हैं।

बसपा की सोशल इंजीनियरिंग यहां गठबंधन के जातीय समीकरणों को बिगाड़कर भाजपा को सीधे मुनाफा पहुंचा सकती है। मायावती ने सपा, रालोद के जाट, मुस्लिम, यादव समीकरण के अगेंस्ट मुस्लिम, एससी का गणित बैठाते हुए टिकटों का बंटवारा किया है। ऐसे में मायावती के प्रत्याशियों की सूची सपा-रालोद गठबंधन के गणित पर खासा असर डालेगी। जातीय गणित पर सपा-रालोद को टिकट देने में मशक्कत करनी पड़ेगी।

मुस्लिम वोटों पर थी अखिलेश की नजर

रालोद, सपा के गठबंधन में अधिकांश चेहरे यादव, जाट और मुसलमान समीकरण वाले हैं। वहीं, बसपा ने दलित और मुसलमान कार्ड चलकर गठबंधन को चुनौती दी है। इसका सीधा लाभ भाजपा को हो सकता है। धौलाना से बसपा ने असलम चौधरी के सामने वासिद प्रधान को उतारकर मुसलमान वोटों में सेंधमारी की है। दो मुसलमान होने से वोट बंट जाएंगे और फायदा भाजपा को होगा।

चरथावल से जाट पंकज मलिक के खिलाफ बसपा ने सलमान सईद को उतारकर मुसलमान वोटों में सेंधमारी की है। सपा यहां जाट प्लस मुसलमान वोटों का फायदा लेने की कोशिश में थी, लेकिन अब गठबंधन को मुश्किल होगी। मुसलमान वोटों पर अखिलेश की भी नजर थी। ऐसे में बसपा के प्रत्याशी गठबंधन का नुकसान करेंगे। 53 टिकटों में बसपा ने 14 टिकट मुसलमानों को देकर अखिलेश की मुश्किलें बढ़ाई हैं।

किठौर में गुर्जर उतारकर भाजपा को फायदा

बसपा ने किठौर सीट पर गुर्जर चेहरा केपी मावी को उतारकर भाजपा को सीधा फायदा दिया है। गुर्जर इस बार सपा पर जाने को तैयार थे। भाजपा से नाराज चल रहा गुर्जर समाज गठबंधन पर वोट देने का मन बना चुका था। बसपा ने गुर्जर चेहरा उतार कर उनकी मुश्किल बढ़ा दी है। किठौर में गुज्जरों के वोट कटने से भाजपा को फायदा और गठबंधन प्रत्याशी शाहिद मंजूर को नुकसान होगा।

बसपा के टार्गेट पर जाट वोट बैंक

दलितों, मुसलमानों की पार्टी कही जाने वाली बसपा के उम्मीदवार की लिस्ट में जाट मतदाताओं को साधने का गणित भी दिखता है। पार्टी ने 10 जाटों को टिकट दिया है। जाटों का टिकट हासिल करने के लिए सपा ने रालोद से हाथ मिलाया। मगर, बसपा के ये 10 जाट चेहरे उन सीटों पर गठबंधन का वोट काटेंगे। किसान आंदोलन के बाद जाटों के जिस सेंटीमेंट को भुनाने के लिए सपा और रालोद ने हाथ मिलाया, वहां बसपा जाट प्रत्याशी वोट में सेंधमारी करेंगे।

वेस्ट यूपी में पहले चरण की सीटों पर बसपा और गठबंधन के उम्मीदवार

सीटबसपासपा-रालोद गठबंधन
चरथावलसलमान सईदपंकज मलिक जाट
खतौलीमाजिद सिदद्कीराजपाल सिंह सैनी
किठौरकेपी मावीशाहिद मंजूर
लोनीहाजी अकील चौधरीमदन भैया
धौलानावासिद प्रधानअसलम चौधरी
हापुड़एससी मनीष उर्फ मोनूगजराज सिंह
मुरादनगरहाजी अय्यूब इदरीशसुरेंद्र कुमार मुन्नी
मीरापुरमो. शालिमचंदन चौहान
बुढानाहाजी मो. अनीशराजपाल बालियान