पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एसआई की परीक्षा देने पहुंचे 2 अभ्यर्थी गिरफ्तार:बिहार के सॉल्वर गैंग से जुड़े हैं दोनों युवक, पुलिस ने कोर्ट में पेश कर दोनों को जेल भेजा

मेरठ6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पकड़े गये दोनों फर्जी अभ्यर्थी - Money Bhaskar
पकड़े गये दोनों फर्जी अभ्यर्थी

यूपी पुलिस की एसआई की लिखित परीक्षा में लगातार सेंधमारी का प्रयास किया जा रहा है। मेरठ में पुलिस ने दो फर्जी अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से फर्जी आईकार्ड भी बरामद किए गये हैं। पुलिस की जांच में सामने आया है की यह गिरोह के बिहार के सॉल्वर गैंग से जुड़ा है। सॉल्वर गैंग ने यूपी के अलग अलग जिलों में मोटी रकम लेकर फर्जी अभ्यर्थियों को लिखित परीक्षा में बैठाने का ठेका ले रखा है। मेरठ में अब तक छह युवक गिरफ्तार हो चुके हैं।

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया की यूपी पुलिस की एसआई की लिखित परीक्षा चल रही है। जानी थाना क्षेत्र के आईटीएम कॉलेज पांचली परीक्षाक केंद्र पर पुलिस की डयूटी लगी थी। 21 नवंबर को पुलिस ने चेकिंग के दौरान राहुल पुत्र कलम सिंह निवासी गांव सहपत थाना कैराना जिला शामली को गिरफ्तार किया। जिससे पुलिस ने पूछताछ की गई तो पता चला की मूल अभ्यार्थी अंकुर सिंह पुत्र मैनपाल सिंह निवासी दुभर किशनपुर जिला सहारनपुर के स्थान पर फर्जी दस्तावेज तैयार कर परीक्षा में सम्मलित होने आया था। जिससे पूछताछ की गई तो पता चला की कोचिंग सेंटर का संचालक भी इसमें शामिल है। जिसने एक लाख रुपये लेकर दूसरे अभ्यर्थी से परीक्षा दिलाने के लि भेजा।

दूसरा साथी सुमित भी गिरफ्तार

गिरफ्तार राहुल से पूछ ताठछ के बाद पुलिस ने राहुल के साथी सुमित कुमार पुत्र ओंकार सिंह निवासी जगनपुर कंडेला थाना कैराना शामली को 22 नवंबर को गिरफ्तार किया। जिससे पूछताछ में सामने आया की शामली के कैराना में टारगेट कोचिंग सेंटर में कम्पटीशन की तैयारी कराई जाती है। यहां कोचिंग सेंटर का संचालक कपिल निवासी तितरवाड़ा थाना कैराना जिला शामिल शामिल है। पुलिस की जांच में सामने आया है कि कपिल के तार बिहार से जुड़े हैं। इस संबंध में पुलिस कोचिंग सेंटर के संचालक और मूल् अभ्यर्थी की भी तलाश कर रही है।

खबरें और भी हैं...