पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %

मथुरा में भरत मिलाप देख भाव-विभोर हुए लोग:पुष्पक विमान से पहुंचे भगवान राम, इस लीला को देखने हरियाणा-राजस्थान से भी आए लोग

मथुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मथुरा के कोसीकला में ब्रज का सबसे प्राचीन भरत-मिलाप मेला सुबह 4 बजे संपन्न हुआ। लंकापति रावण का वध कर भगवान राम पुष्पक विमान से पहुंचे। इसके बाद लोगों (जन) के कंधों के सहारे भगवान राम अपने भाई भरत से मिले। रामलीला के अंतिम दिन राज्याभिषेक से पूर्व होने वाली भरत मिलाप लीला को देखने के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। भरत-मिलाप को देखने के लिए हरियाणा और राजस्थान तक के लोग कोसी पहुंचे थे। कोसी नगर हरियाणा और राजस्थान की सीमा से लगा हुआ है।

लोगों के कंधों पर भगवान राम और भरत।
लोगों के कंधों पर भगवान राम और भरत।

मिलाप होते ही हर तरफ चारो भैया की जय-जयकार
कोसीकला में रामलीला का इतिहास 202 साल पुराना है। रात 11 बजे भरत मिलाप लीला में भगवान राम जहां पत्नी जानकी, भाई लक्ष्मण और भक्त हनुमान के साथ पुष्पक विमान में विराजमान होकर भरत मिलाप चौक के पास पहुंचे। इसी दौरान भगवान राम के वन से अयोध्या वापस आने की सूचना मिलते ही भरत दौड़ पड़े। भगवान राम से मिलने की सूचना पर भरत को कोसीवासी अपने कंधों से रास्ता दिया और उधर भरत जी को आता देख राम भी लोगों को कंधों के ऊपर चलकर उनसे मिलने पहुंचे। दोनों भाइयों के मिलन की इस लीला को देख श्रद्धालु भाव-विभोर हो उठे। लोगों ने भगवान राम और चारों भाइयों की जय-जय जयकार की।

पुष्पक विमान पर बैठे भगवान राम, मां जानकी और लक्ष्मण।
पुष्पक विमान पर बैठे भगवान राम, मां जानकी और लक्ष्मण।

मेले में सुरक्षा के रहे कड़े इंतजाम
मेले में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं की संख्या पहुंचने के कारण सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहे। पुलिस ने शहर को 6 सेक्टरों में विभाजित कर दिया। शहर में प्रवेश करने वाले सभी मार्गों पर बैरिकेडिंग कर दी गई थी। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए 50 सब इंस्पेक्टर सहित कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल, महिला कांस्टेबल, ट्रैफिक पुलिस, फायर ब्रिगेड के साथ एसपी देहात, सीओ छाता और एसडीएम छाता खुद मौजूद रहे।

कार्यक्रम में हवन-पूजन की झांकी भी रही।
कार्यक्रम में हवन-पूजन की झांकी भी रही।
भरत मिलाप कार्यक्रम में देवी-देवताओं की झांकी आकर्षण का केंद्र रही।
भरत मिलाप कार्यक्रम में देवी-देवताओं की झांकी आकर्षण का केंद्र रही।
खबरें और भी हैं...