पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मैनपुरी में सर्वे करने पहुंची ASI की टीम:खेत को समतल करते समय टीले से निकले थे हथियार

मैनपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हथियारों को दिखाती पुलिस। - Money Bhaskar
हथियारों को दिखाती पुलिस।

उत्तर प्रदेश के जनपद मैनपुरी में प्राचीन काल के राजा महाराजाओं के हथियार मिले। यह हथियार खेत समतलीकरण के दौरान टीले से बरामद हुए। हथियारों की जांच करने पुरातत्व विभाग आगरा और दिल्ली की टीमें पहुंची हैं। टीमों ने मौके पर जांच करके खेत की टीले नुमा एरिया को समतलीकरण करने की रोक लगा दी है। इस दौरान मिट्टी और मृदभांड के अवशेषों के सैंपल लिए गए।

मामला कुरावली थाना क्षेत्र के गणेशपुर गांव से जुड़ा था जहां के निवासी बहादुर सिंह 9 जून को खेत में बने टीले का जेसीबी की सहायता से समतलीकरण करा रहे थे। तभी रात बक्से में भरे हुए पुराने जमाने के राजा महाराजाओं के हथियार और कीमती वस्तुएं बरामद हुई थी। ग्रामीणों के अनुसार जिन्हें रात में काम कर रहे मजदूर छीना झपटी कर अपने साथ ले गए थे और कुछ हथियारों को मौके पर छोड़कर भाग गए थे। जिसमें से खेत पर पड़े 39 हथियार किसान ने मौके से एसडीएम को सौंपे थे। उसके बाद ग्रामीणों ने कार्रवाई के डर से छुपाए गए अन्य हथियार एक दिन 8 और दूसरे दिन 22 खेत पर रात के समय फेंक दिए थे। कुल हथियार 69 के लगभग बताये जा रहे हैं।

खेत में सर्वे करती टीम।
खेत में सर्वे करती टीम।

गनेशपुर गांव में मिले हथियारों की हुई जांच

एएसआइ आगरा सर्किल के अधीक्षण पुरातत्वविद राजकुमार पटेल ने मौके पर जांच की थी। प्राचीन हथियार भी उनके सुपर्द कर दिए गए थे। एएसआइ के विशेषज्ञ ताम्र निधियों के 38 सौ से चार हजार से साल पुराना होने का अनुमान लगा रहे हैं। जांच में पुरातत्व विभाग के अतिरिक्त महानिदेशक दिल्ली अजय कुमार यादव, रीजनल डायरेक्टर डा. अरविन मंजुल, संयुक्त महानिदेशक संजय मंजुल, अधीक्षण पुरातत्वविद आगरा डा. राजकुमार पटेल, सहायक अधीक्षण पुरातत्वविद नीरज वर्मा, सहायक पुरातत्वविद जितेंद्र सिंह, संरक्षण सहायक अंकित नामदेव, सचिन कुमार की टीम कुरावली गांव गनेशपुर पहुंची। टीम ने खेत पर करीब दो घंटे तक जांच की।

खेतों से निकले हथियार।
खेतों से निकले हथियार।

हथियारों का कराया जा रहा परीक्षणटीम ने पूरे खेत का जायजा लिया। कई जगह से मिट्टी के सैंपल लिए। समतलीकरण के दौरान हथियारों के साथ मिलने वाले मृदभांडों के टुकड़े भी एकत्र किए। एएसआइ अधिकारियों ने बताया कि हथियारों का परीक्षण कराया जा रहा है। इसके बाद ही इस संबंध में कोई अगला निर्णय लिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...