पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मैनपुरी में 6 लाख की लूट का खुलासा:कर्ज में दबे होने पर रची थी झूठी साजिश, सीसीटीवी फुटेज से खुली पोल

मैनपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मैनपुरी में 6 लाख की झूठी लूट की सूचना देने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और पूछताछ के बाद मुकदमा पंजीकृत करके जेल भेज दिया। आरोपी ने 20 जून को आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे 6 लाख रुपए की लूट की झूठी सूचना पुलिस को दी थी। इस घटना से पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया था। जांच में शिकायत झूठी पाये जाने पर पुलिस ने शिकायतकर्ता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

पूछने पर शिकायतकर्ता ने बताई सच्चाई
20 जून को लखनऊ निवासी गिरीश चंद्र ने पुलिस को सूचना दी थी कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर स्कार्पियो सवार बदमाशों ने दिनदहाड़े 6 लाख रुपये लूट कर फरार हो गए। करहल थाना क्षेत्र में हुई बड़ी लूट की घटना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। पुलिस मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच में जुट गयी। सीसीटीवी फुटेज में शिकायतकर्ता के अलावा कोई गाड़ी नहीं दिखी तो पुलिस को शक हो गया। जिसके बाद शिकायतकर्ता से ही शक के आधार पर पुलिस ने पूछताछ की।

षड्यंत्र से हड़पना चाहता था रुपए
कड़ाई से पूछताछ करने पर शिकायतकर्ता ने सच उगल दिया। उसने बताया उसके ऊपर 6 लाख से ज्यादा का कर्जा हो गया था और वह कर्जे में दब गया था। लूट के झूठे षड्यंत्र के तहत लोगों के रुपए हड़पना चाहता था। उसके पास 6 लाख नहीं थे। लूट के बाद मैनपुरी से लेकर आगरा रेंज की पुलिस अलर्ट हो गई थी एक्सप्रेस-वे ब्लॉक कर बदमाशों की चेकिंग की जा रही थी, लेकिन बदमाश नहीं मिले। लूट झूठी सूचना देने के मामले में शिकायतकर्ता गिरीश चंद्र को जेल भेज दिया गया।

खबरें और भी हैं...