पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मैनपुरी में विद्युत विभाग के 3 अधिकारी निलंबित:प्रवर्तन दल ने फूड फैक्टरी में पकड़ी थी चोरी, संचालक पर 20 लाख रुपये का लगा जुर्माना

मैनपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मैनपुरी में दो दिन पहले प्रवर्तन दल आगरा और मैनपुरी ने बड़ी बिजली चोरी पकड़ी थी। ये चोरी एक फूड फैक्टरी में की जा रही थी। मामले में क्षेत्रीय अवर अभियंता और लाइन स्टाफ के विरुद्ध जांच के लिए अधीक्षण अभियंता ने आदेश जारी किए थे। जांच में दोषी पाए जाने पर एक साथ तीन विद्युत अधिकारियों को निलंबित कर दिया है।

मामला कुरावली थाना क्षेत्र से जुड़ा था। प्रवर्तन दल आगरा और मैनपुरी की टीम ने बीते 16 जून की रात को संयुक्त रूप से करीमगंज क्षेत्र में आराध्या फूड फैक्टरी पर छापेमारी की थी। रात में यहां मीटर बाईपास कर सीधे ट्रांसफार्मर से बिजली चोरी की जा रही थी। जांच में पाया गया कि 35 किलोवाट बिजली की चोरी की जा रही थी। इस पर विद्युत निगम ने 20 लाख रुपये का जुर्माना फैक्टरी संचालक अजय चौहान पर लगाया था।

चेकिंग रिपोर्ट राजस्व संबंधी कार्रवाई के लिए दी गई थी
विद्युत चोरी पकड़े जाने पर भारतीय विद्युत अधिनियम की धारा के तहत एंटी पावर थेफ्ट विधुत थाना मैनपुरी में मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। मौके पर भरी गई चेकिंग रिपोर्ट राजस्व संबंधी कार्रवाई हेतु विद्युत वितरण खंड तृतीय अधिशासी अभियंता गुरु चरण लाल भटनागर को सौंपी गई थी। अधिशासी अभियंता अपने क्षेत्र में चोरी रोकने में नाकामयाब रहे। जिसके चलते कार्रवाई की गई।

जांच में विभाग के अधिकारियों पर गिरी गाज
प्रबंध निदेशक दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड अमित किशोर ने बताया कि विद्युत चोरी की बड़ी कार्रवाई हुई है। जिसमें कार्य शिथिलता और लापरवाही पाया गया। इस लिए अवर अभियंता गुरचरण लाल भटनागर, एसडीओ संजीव यादव और जेई शुभम मद्धेशिया को निलंबित कर दिया है।

खबरें और भी हैं...