पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मैनपुरी में बिना बैटरी लगाये ग्लूकोमीटर से मरीजों की जांच:सीएचओ नहीं नाप पाये बीपी, ज्वाइंट डायरेक्टर ने लगाई फटकार, कार्रवाई के निर्देश

मैनपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मैनपुरी में स्वास्थ्य विभाग का हैरतगंज मामला सामने आया है। जहां परौख में आयोजित स्वास्थ्य मेले में चिकित्सक बिना बैटरी डाले ग्लूकोमीटर से जांच कर रहे थे। आरोग्य मेले जांच करने पहुंचे ज्वाइंट डायरेक्टर बरेली मंडल को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने स्वास्थ्य जांच के नाम पर मूर्ख बना रहे स्वास्थ्य कर्मियों को कड़ी फटकार लगाई और उनके खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

ग्लूकोमीटर में बैटरी नहीं होने पर फटकार
बरेली मंडल के ज्वाइंट डायरेक्टर डॉक्टर गिरीश चंद गोगाई रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य स्वास्थ्य मेले का निरीक्षण करने मैनपुरी पहुंचे। जहां उन्होंने पीएचसी परौख और पीएचसी सहादतपुर का औचक निरीक्षण किया।​​​​​​​ परौख पीएचसी पर एलटी जितेंद्र कुमार ग्लूकोमीटर से मरीजों की जांच कर रहे थे। तभी ज्वाइंट डायरेक्टर ने ग्लूकोमीटर चेक किया तो उसमें सेल (बैटरी) नहीं थी। गौर से जांच की तो उसकी स्ट्रिप भी गायब मिली। मामले की गंभीरता को देखते हुए ज्वाइंट डायरेक्टर ने फटकार लगाते हुए कड़ी कार्रवाई का निर्देश दिया।

ज्वाइंट डायरेक्टर ने जतायी नाराजगी
निरीक्षण की दौरान उन्होंने सीएचओ अनुपम कुमार से बीपी जांच करने के लिए कहा, लेकिन वे सही तरीके से बीपी की जांच नहीं कर पाए। जिस पर उन्होंने कड़ी नाराजगी व्यक्त की। मौके पर मौजूद डॉक्टर छुटकी यादव से स्टाफ को ट्रेंड करने के निर्देश दिए। इस दौरान डॉ. मोनिका पाल, डॉक्टर अंकिता सिंह और सभी स्टाफ मौजूद रहे।

दवाओं को चेक करते बरेली मंडल के ज्वाइंट डायरेक्टर डॉक्टर गिरीश चंद गोगाई।
दवाओं को चेक करते बरेली मंडल के ज्वाइंट डायरेक्टर डॉक्टर गिरीश चंद गोगाई।
ज्वाइंट डायरेक्टर ने किया अस्पताल का निरीक्षण।
ज्वाइंट डायरेक्टर ने किया अस्पताल का निरीक्षण।

अस्पताल में व्यवस्थाएं करें दुरुस्त ​​​​​​​
ज्वाइंट डायरेक्टर ने महिला अस्पताल, जिला चिकित्सालय में फायर सेफ्टी का निरीक्षण किया। एल-2 कोविड अस्पताल में मॉक ड्रिल का निरीक्षण कर दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा अस्पतालों में सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त करने में कोई कमी नहीं होनी चाहिए। उत्तर प्रदेश सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य करें। सभी मरीजों के साथ अच्छा व्यवहार कर मरीजों बैठने और ठंडे पानी आदि की उचित व्यवस्था उपलब्ध रहे। निरीक्षण के दौरान रवींद्र सिंह गौर प्रभारी जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी भी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...