पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मैनपुरी में 4 हजार मृतकों के मिल रही वृद्धावस्था पेंशन:जिला समाज कल्याण अधिकारी हटाई गई,सीडीओ ने कहा- रोक लगा दी गई है, कराया जा रहा सत्यापन

मैनपुरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले में वृद्धावस्था पेंशन में फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है। यहां 4 हजार से अधिक मृतकों को पेंशन दी जा रही थी। जिला समाज कल्याण अधिकारी इंद्रा सिंह तो इस बात की भनक तक नहीं लगी।लापरवाही बरतने पर उनका ट्रांसफर कर दिया गया है। कार्यभार न ग्रहण करने पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गई है।

किसी ने जांच करने की जहमत नहीं उठाई

जिले में 97 हजार से ज्यादा वृद्धावस्था पेंशन धारकों के खाते में पेंशन भेजी जा रही है। इसमें 93952 तो पात्र हैं। लेकिन, 4443 पेंशन धारकों की मौत हो चुकी है। इसकी जांच करने की जहमत किसी ने नहीं उठाई। जिला समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि जिले में 44 हजार से ज्यादा पेंशन धारकों की ई-केवाईसी हो गई है। शेष की होना बाकी है।

ज्वॉइन न करने पर कार्रवाई की चेतावनी

समाज कल्याण विभाग के निदेशक राकेश कुमार ने जिला समाज कल्याण अधिकारी इंद्रा सिंह को तत्काल हटा दिया। उनका ट्रांसफर औरैया कर दिया। नवीन तैनाती पर तत्काल कार्यभार ग्रहण करने के निर्देश दिए। ​​​​​​​ज्वॉइन न करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई करने की चेतावनी दी है।

पेंशन पाने वालों का कराया जा रहा सत्यापन

मुख्य विकास अधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि वृद्धावस्था पेंशन पाने वाले लोगों का सत्यापन कराया जा रहा है। जिनकी मौत हो चुकी है, उनकी पेंशन पर तत्काल रोक लगा दी गई है। जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...