पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %

PM की रैली में लगाई जाएंगी 1600 रोडवेज बसें:महोबा में 19 को PM मोदी की रैली, DM ने पत्र लिखकर शासन से मांगी बसें; सिंचाई विभाग उठाएगा खर्च

महोबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
PM की रैली में लगाई जाएंगी 1600 रोडवेज बसें। - Money Bhaskar
PM की रैली में लगाई जाएंगी 1600 रोडवेज बसें।

आगामी 19 नवंबर को महोबा जिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली है। पीएम मोदी की रैली को देखते हुए जिला प्रशासन तैयारियों में लगा हुआ है। रैली में भीड़ जुटाने के लिए भाजपाइयों के साथ-साथ जिला प्रशासन भी लगा हुआ है। आसपास के जिलों से भीड़ लाने के लिए 1,600 रोडवेज बसों का जुगाड़ किया जा रहा है। डीएम मनोज कुमार ने परिवहन विभाग के प्रबंध निदेशक को पत्र लिखकर 18 नवंबर को बसें उपलब्ध कराने को कहा है। बसों का खर्च सिंचाई विभाग उठाएगा।

सिंचाई विभाग करेगा बसों का भुगतान

बता दें कि 19 नवंबर को पीएम मोदी पुलिस लाइन के पास बने ग्राउंड से बुंदेलखंड की सबसे बड़ी अर्जुन सहायक परियोजना का लोकार्पण करेंगे। रैली में महोबा, हमीरपुर, बांदा और चित्रकूट के योजनाओं के लाभार्थी और आमजन पीएम को सुनने के लिए पहुंचेंगे। इन जिलों से लोगों को लाने और घर तक पहुंचाने के लिए डीएम मनोज कुमार ने राज्य सड़क परिवहन के प्रबंध निदेशक को पत्र लिखा है, जिसमें 1,600 बसें उपलब्ध कराने को कहा है। पत्र में स्पष्ट कर दिया गया है कि बसों का भुगतान सिंचाई विभाग द्वारा किया जाएगा।

डीएम द्वारा शासन को पत्र लिखकर मांगी गईं 1,600 बसें।
डीएम द्वारा शासन को पत्र लिखकर मांगी गईं 1,600 बसें।

बसों का 7 करोड़ रुपए आएगा खर्च

डीएम मनोज कुमार ने पत्र में क्षेत्रीय प्रबंधक चित्रकूट धाम मंडल बांदा को 18 नवंबर को बसें उपलब्ध कराने के लिए कहा है। क्षेत्रीय प्रबंधक अशोक कुमार के अनुसार एक बस का एक दिन का किराया 22,081 रुपए है। इस हिसाब से देखा जाए तो 18 और 19 नवंबर दो दिन में 7.06 करोड़ की धनराशि खर्च होगी। अशोक कुमार ने कहा कि डीएम महोबा ने शासन को पत्र लिखा है। हमारे रीजन में 1,600 बसें नहीं हैं। विभाग में बात की जा रही है। हो सकता हैं प्राइवेट बसें पहुंचे। अगर रोडवेज की बसें जाती हैं तो एक दिन का एक बस का किराया 22,081 रुपए है। वहीं बसों के खर्च उठाने के संबंध में सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता ने कहा कि बसों के लिए खर्च के संबंध में कोई जानकारी नहीं है। अगर जिलाधिकारी ने पत्र लिखा है तो शासन से ही तय किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...