पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महोबा में गहकर वृद्धि को पालिका बोर्ड ने किया खारिज:10 से 20 प्रतिशत गृहकर में कर दी गई थी वृद्धि, बैठक में जनसमस्या का भी उठा मुद्दा

महोबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महोबा जनपद के चरखारी में जी०आई०एस० सर्वे के उपरान्त गृहकर के निर्धारण में हुई 10 से 20 गुना और कहीं इससे भी अधिक की वृद्धि को नगर पालिका बोर्ड ने खारिज कर दिया है तथा कच्चे मकानों पर 10 प्रतिशत एवं पक्के मकानों पर 20 प्रतिशत की वृद्धि का प्रस्ताव रखा है। बोर्ड की बैठक में एक ओर जहां जनसमस्याओं पर चर्चा हुई वहीं बजट स्वीकृति भी हुई।

सभी सभासदों ने किया विरोध

नगर पालिका परिषद बोर्ड की बैठक पालिका अध्यक्ष मूलचन्द्र अनुरागी की अध्यक्षता में आयोजित हुई जिसमें लेखाकार अय्यूब खां द्वारा आय व्यय बजट प्रस्तुत किया तथा सभासदों द्वारा आय व्यय बजट को स्वीकृति प्रदान की गयी। अन्य विषयों पर हुई चर्चा में नए गृहकर को लेकर सभासदों के तेवर तल्ख दिखाई दिए तथा 10 से 20 गुनों और इससे भी अधिक गृहकर निर्धारण किए जाने का विरोध सभी सभासदों ने किया।

अवैध कब्जों को हटाने के भी आदेश

सभासदों द्वारा कच्चे मकानेां के लिए 10 प्रतिशत एवं पक्के मकानों के लिए 15 प्रतिशत बढ़ोत्तरी किए जाने का प्रस्ताव रखा। सभासदों का मत है कि चरखारी कस्बा में मजदूर किसान एवं गरीब वर्ग के लोग हैं जबकि गृहकर का निर्धारण महानगरों के और व्यवसायिक शहरों के अनुरूप लगाया गया है जो कि खारिज किए जाने योग्य है। कस्बा के गलियों मुहल्लों सार्वजनिक स्थलों की जमीनों पर हुए अवैध कब्जों को हटाने के लिए अभियान चलाए जाने का प्रस्ताव भी सभासदों ने रखा। बैठक में अधिशाषी अधिकारी के०के० सोनकर, लिपिक संजीत कुमार, सभासद मनोज पाठक, तबस्सुम, हरीसिंह, मनोज कुमार, बसन्त राजपूत, इंजी० अमित पटेरिया, मोतीलाल, दीपक, तरन्नुम, धमेन्द्र, आरजू सहित सभी सभासद मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...