पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महोबा पहुंचे सीएम:2 दिन बाद होने वाले PM के कार्यक्रम की तैयारियों का लिया जायजा, 1600 सरकारी बसों से आएगी भीड़, 7 करोड़ होंगे खर्च

महोबा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्वांचल के बाद अब बुंदेलखंड को साधने की कोशिश करेंगे। 19 नवंबर को महोबा में अर्जुन सहायक परियोजना का उन्हें लोकार्पण करना है। इसकी तैयारियों का जायजा लेने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज महोबा पहुंचे हैं।

19 नवंबर को पीएम मोदी का पुलिस लाइन के पास बने ग्राउंड में कार्यक्रम होना है। इसी दिन महारानी लक्ष्मी बाई की 193 वीं जयंती भी है। इसी मौके को देखते हुए यह तारीख निर्धारित की गई है, ताकि परियोजना के लोकार्पण के साथ-साथ बुंदेलखंड की वीरता को भी याद किया जा सके।

सरकार का दावा है कि लोकार्पण के बाद बुंदेलखंड के लोगों की पानी की समस्या खत्म हो जाएगी। हालांकि इसे क्षेत्र में चुनाव के समय का उद्घाटन मात्र माना जा रहा है।
सरकार का दावा है कि लोकार्पण के बाद बुंदेलखंड के लोगों की पानी की समस्या खत्म हो जाएगी। हालांकि इसे क्षेत्र में चुनाव के समय का उद्घाटन मात्र माना जा रहा है।

क्या है अर्जुन सहायक परियोजना

  • बांधों को आपस में जोड़कर तैयार की गई अर्जुन सहायक परियोजना पर लगभग ढाई हजार करोड़ रुपए की लागत आई है।
  • इस सिंचाई परियोजना का स्वरूप नदी जोड़ो परियोजना की तरह है।
  • लगभग 12 वर्षों में तैयार हुई इस परियोजना की लागत बढ़कर तीन गुना पहुंच गई।

इन जिलों को मिलेगा लाभ

बुंदेलखंड के महोबा, हमीरपुर व बांदा जिलों के 168 गांवों के लगभग डेढ़ लाख किसानों को परियोजना का सीधा लाभ मिलेगा, जबकि चार लाख लोगों को पेयजल सुविधा का लाभ मिलेगा।

इतना हुआ खर्च

  • 2009 में शुरू हुई इस परियोजना के दौरान 806.50 करोड़ रुपए का एस्टीमेट बना।
  • समय बढ़ने पर 3 गुना ज्यादा लगभग 2593.93 करोड़ की लागत आ गई।
  • अर्जुन सहायक परियोजना से महोबा , बांदा व हमीरपुर जनपदों की 44381 हेक्टेयर जमीन सिंचित होगी।

बसों को लेकर फिर हो रही किरकिरी
कार्यक्रम में लोगों को लाने के लिए जिला प्रशासन मेहनत कर रहा है। महोबा, हमीरपुर, बांदा, चित्रकूट से लोग पीएम को सुनने के लिए बुलाए जा रहे हैं। इसके लिए जिलाधिकारी ने राज्य सड़क परिवहन के प्रबंध निदेशक को पत्र लिखा है, जिसमें 1600 बसें उपलब्ध कराने को कहा है। यह भी कहा गया है कि बसों का भुगतान सिंचाई विभाग द्वारा किया जाएगा। 18 नवंबर को बसें उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है। बता दें कि बस का एक दिन का किराया 22,081 रुपए है। इस हिसाब से 18 और 19 नवंबर दो दिन में करीब 7 करोड़ रुपए का नुकसान होगा।

बुंदेलखंड के तीन जनपदों के लिए जीवनदायिनी साबित होने वाली अर्जुन सहायक परियोजना का कार्य अधूरा है। इस परियोजना के शुरू होने के बाद से महोबा, हमीरपुर, बांदा के किसानों को सिंचाई के लिए पानी मिल पाएगा। लगभग 168 गांव तक पानी पहुंच पाएगा।
बुंदेलखंड के तीन जनपदों के लिए जीवनदायिनी साबित होने वाली अर्जुन सहायक परियोजना का कार्य अधूरा है। इस परियोजना के शुरू होने के बाद से महोबा, हमीरपुर, बांदा के किसानों को सिंचाई के लिए पानी मिल पाएगा। लगभग 168 गांव तक पानी पहुंच पाएगा।

सियासी मायने

  • आचार संहिता लगने से पहले पीएम मोदी बुंदेलखंड को देना चाहते हैं बड़ी सौगात।
  • पानी की समस्या दूर कर पूरे बुंदेलखंड को साधने की कोशिश।
  • भाषण में रानी लक्ष्मीबाई और पानी की समस्या का किया जाएगा जिक्र।
  • ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने की चल रही है कवायद, 1600 बसों का किया जा रहा जुगाड़।
खबरें और भी हैं...