पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महोबा में बेदखली:जमीन से बेदखली की कार्रवाई से डरे गरीबों ने डीएम से लगाई गुहार

महोबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महोबा जनपद के छितरवारा गांव में पिछले 70 वर्षों से रह रहे गरीब तबके के लोगों को बेदखल करने की कार्रवाई की जा रही है। सभी लोगों ने इस बावत जिला अधिकारी से न्याय की गुहार लगाते हुए प्रार्थना पत्र दिया है। उनका आरोप है कि चुनावी रंजिश के चलते क्षेत्रीय लेखपाल से मिलकर बेदखली की कार्रवाई कराने के लिए विपक्षियों द्वारा झूठी शिकायतें की जा रही है। जबकि इनके पास इसके अलावा कहीं और रहने का दूसरा ठिकाना भी नहीं है।

पूरा मामला कुलपहाड़ तहसील क्षेत्र के छितरवारा गांव का है। जहां रहने वाले एक दर्जन ग्रामीणों ने डीएम को प्रार्थना पत्र देते हुए न्याय की गुहार लगाई है। जिलाधिकारी की चौखट पर पहुंचे भवानीदीन, मंगल सिंह, कृपाराम, रामप्रकाश, करन सिंह, ब्रजेन्द्र सिंह, अमर सिंह, रामपाल आदि बताते है कि ग्राम पंचायत छितरवारा में पिछले 70 वर्षों से वह मकान बनाकर रह रहे है। सभी गरीब तबके के मजदूर है जिनके पास उक्त स्थान के आलावा कहीं और रहने का ठिकाना नही है।

70 साल से रह रहे लोग

सभी का आरोप है कि उक्त स्थान से साजिशन बेदखल करने की कार्यवाही की जा रही है। चुनावी रंजिश के चलते गांव के ही विपक्षियों द्वारा स्थानीय लेखपाल से सांठ-गांठ कर उन्हें बेदखल करने की साजिश की जा रही है। ग्राम पंचायत की जमीन पर मकान बने होने के कारण ये कार्यवाही करने की बात बताई जा रही है। मगर हम गरीबों के पास इसके अलावा रहने के लिए कोई और ठिकाना नही है।

जिलाधिकारी को दिए गए प्रार्थना पत्र में सभी लोग बताते हैं कि पूर्वजों के समय से उक्त जमीन पर ही निवास कर रहे हैं लेकिन अब उन्हें हटाने की साजिश की जा रही है जिलाधिकारी से बेदखली कार्यवाही रोके जाने की मांग सभी ने की है। उनके द्वारा क्षेत्रीय लेखपाल पर भी गंभीर आरोप लगाए गए हैं परिवार की गुहार गरीब तबके के लोगों ने जिलाधिकारी से लगाई है।

खबरें और भी हैं...