पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ललितपुर व चंदौली कांड में CBI जांच की मांग:महोबा में धरने पर बैठी आम आदमी पार्टी, कानून व्यवस्था लगाया आरोप

महोबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

महोबा। तहसील परिसर में आम आदमी पार्टी ललितपुर और चंदौली में घटित हुई अपराधिक वारदातों की सीबीआई जांच की मांग को लेकर धरने पर बैठी है। प्रदेश नेतृत्व के निर्देश पर एक दिवसीय धरने पर बैठे कार्यकर्ताओं ने प्रदेश में कानून व्यवस्था लचर होने का आरोप लगाते हुए उच्च न्यायालय की निगरानी में उक्त मामलों की सीबीआई जांच कराए जाने और आरोपियों पर कठोर कार्रवाई करने किये जाने की मांग ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री से की है।

उच्च न्यायालय की निगरानी में सीबीआई जांच

आम आदमी पार्टी के प्रदेश नेतृत्व के आवाहन पर महोबा सदर तहसील परिसर में पार्टी पदाधिकारी धरने पर बैठ कर प्रदर्शन कर रहे हैं। दरअसल उत्तर प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर आम आदमी पार्टी में नाराजगी है। प्रदेश के ललितपुर और चंदौली में घटित हुई जघन्य आपराधिक घटनाओं की उच्च न्यायालय की निगरानी में सीबीआई जांच कराए जाने की मांग भी आम आदमी पार्टी ने की है। आम आदमी पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष राकेश कुमार पटेरिया के नेतृत्व में धरने पर बैठे सभी कार्यकर्ताओं ने प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर प्रदर्शन किया।

5 लोगों की हत्या हुई

उनका कहना है कि ललितपुर में एक किशोरी से गैंगरेप हुआ और जब पीड़िता न्याय पाने के लिए थाने गई तो दरोगा ने न्याय दिलाने के स्थान पर पीड़िता के साथ ही दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दे डाला तो वही चंदौली में भी दो बेटियों को घर में घुसकर पुलिसकर्मियों द्वारा बेरहमी से पीटा गया जिससे उनकी मौत हो गई और इस पूरे घटना में अपराधी पुलिस कर्मियों को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया गया। ललितपुर कांड और चंदौली कांड दोनों मामलों में पुलिस अभियुक्त है इसलिए पुलिस जांच में किसी को भी न्याय नहीं मिल पा रहा। उनका कहना है इसी तरह प्रयागराज में भी एक ही परिवार के 5 लोगों की हत्या हुई है। वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद में भी एक माह में लगातार हत्या हो चुकी है। कानून व्यवस्था में लगातार गिरावट आ रही है और कानून की रक्षा करने वाले ही अपराध कर रहे है। ललितपुर में घटित हुई वारदात पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर रही है। इस मौके पर आम आदमी पार्टी ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजते हुए सभी मामलों में सीबीआई जांच कराए जाने की मांग कर डाली।

खबरें और भी हैं...