पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %

डॉक्टरों की रिटायरमेंट उम्र को लेकर विवाद:5 साल बढ़ा कर 70 साल करने का योगी सरकार का इरादा, लखनऊ के SGPGIMS के फैकल्टी फोरम ने उठाए सवाल

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएम योगी आदित्यनाथ। - फाइल फोटो - Money Bhaskar
सीएम योगी आदित्यनाथ। - फाइल फोटो

आगामी विधानसभा चुनाव से पहले योगी सरकार प्रदेश में डॉक्टरों की रिटायरमेंट की उम्र 65 की जगह 70 साल करने पर विचार कर रही है। इसके लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है, लेकिन सरकार के फैसले से पहले ही विवाद शुरू हो गया है।

लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (SGPGIMS) की फैकल्टी फोरम ने डॉक्टरों की रिटायरमेंट की उम्र 5 साल बढ़ाने के फैसले का विरोध किया है। कहा जा रहा है कि डॉक्टरों की कमी को देखते हुए शासन ने इसका प्रस्ताव तैयार करने का फैसला लिया है।

65 की बजाय 70 साल में रिटायर होंगे डॉक्टर
प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना का कहना है कि इस कोरोना काल में हमें ज्यादा अनुभव वाले डॉक्टरों की आवश्यकता है। ऐसे में डॉक्टर रिटायरमेंट के बाद अपना कोई प्राइवेट क्लीनिक खोलें, इससे बेहतर है कि वह अपनी सेवाएं हमें ही दें। इसलिए हमने ये प्रस्ताव तैयार किया है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस पर अपनी सहमति भी दे दी है और जल्द ही इसे कैबिनेट में पेश किया जाएगा। कैबिनेट से मंजूरी के बाद यह व्यवस्था लागू हो जाएगी।

रिटायरमेंट एज का क्यों हो रहा विरोध
लखनऊ PGI के फैकल्टी फोरम का कहना है कि यह बेहद अपमानजनक है। इससे मरीजों को कोई फायदा नहीं होने वाला। ज्यादा उम्र होने की वजह से ऐसे डॉक्टर मरीज का बेहतर इलाज नहीं कर पाएंगे। उम्र बढ़ने के साथ ही बहुत सारी शारीरिक और मानसिक समस्याएं आती है। इतना ही नहीं, सरकार के इस फैसले नए छात्रों के लिए फैकल्टी मेंबर की सीट भी नहीं बढ़ पाएगी। इससे नए डॉक्टरों को मौका नहीं मिल पाएगा। इसके विरोध के लिए जल्द ही GBM (General Body Meeting) बुलाने की बात भी कही गई है।

75 की उम्र में राजनेता राजनीति कर सकते तो डाक्टर इलाज क्यों नहीं?
दूसरी ओर, फैसले के समर्थन में भी कुछ डॉक्टर सामने आ रहे हैं। उनका दावा है कि जब राजनीतिज्ञ 75 की उम्र तक काम कर सकते हैं, तो डॉक्टर भी स्वस्थ होने पर 70 की उम्र तक काम कर सकते हैं। सरकार भी कह रही है कि इस प्रस्ताव पर कैबिनेट अंतिम मुहर लगाएगी। हालांकि, जो डॉक्टर 62 की उम्र में वीआरएस लेना चाहेंगे, उन्हें सेवानिवृत्ति भी दी जाएगी।

2018 में भी सरकार ने तैयार किया था यह प्रस्ताव
इससे पहले साल 2018 में भी सरकार ने डॉक्टरों की रिटायरमेंट की उम्र 5 साल बढ़ा कर 70 करने के लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया था। तब सूबे के स्वास्थ मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा था कि प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है और जल्द ही कैबिनेट में पेश किया जाएगा। लेकिन यह प्रस्ताव कैबिनेट में पेश ही नहीं हो पाया था। अब योगी सरकार चुनावी साल में एक बार फिर इस प्रस्ताव को तैयार कर कैबिनेट में लाने की तैयारी कर रही है।

खबरें और भी हैं...