पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61765.590.75 %
  • NIFTY18477.050.76 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47189-1.48 %
  • SILVER(MCX 1 KG)631020.23 %

बारिश से गोरखपुर-महराजगंज में बाढ़ जैसे हालात:आज भी भारी बारिश की संभावना, 5 जिलों के लिए अलर्ट; लगातार चौथे दिन आगरा सबसे ज्यादा गर्म शहर रहा

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल में बीते तीन दिनों से हो रही बारिश से बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं। आज भी मौसम विभाग ने गोरखपुर, महराजगंज, सहारनपुर, पीलीभीत और मुरादाबाद में तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है। बीते 24 घंटे में पूर्वी क्षेत्र के 15 जिलों में 2.8 मिमी औसत बारिश हुई है। हालांकि, पश्चिमी क्षेत्र सूखा रहा। यहां एक बूंद भी बारिश नहीं हुई। इससे उमस और गर्मी एकाएक बढ़ गई है। प्रदेश में आगरा शहर चौथे दिन भी 36 डिग्री के साथ सबसे ज्यादा गर्म रिकॉर्ड किया गया। इसके अलावा इटावा जिले का तापमान 23 डिग्री सेल्सियस के साथ न्यूनतम रिकॉर्ड किया गया।

लखनऊ में बादलों के आवागमन का सिलसिला जारी
प्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत कई जिलों में बादलों की लुकाछिपी का सिलसिला बना हुआ है। बरसात नहीं हो रही है। बादल और धूप की लुकाछिपी की वजह से उमस भरी गर्मी का सामना करना पड़ा रहा। मेरठ, गौतमबुद्ध नगर, पीलीभीत, बरेली, हाथरस, आगरा, मैनपुरी, लखनऊ, कानपुर, औरैया, झांसी, प्रयागराज, फतेहपुर, संतकबीर नगर, बहराइच, मऊ, बलिया और बनारस में आज आंशिक बारिश की संभावना है।

30 अगस्त तक मानसून रहेगा आंशिक सक्रिय
मौसम विभाग के अनुसार, मानसून ट्रफ लाइन का पश्चिमी छोर हिमालय की तलहटी के करीब से गुजर रहा है। हालांकि, पूर्वी छोर हरदोई, वाराणसी, डॉल्टनगंज, डिगा और फिर पूर्व दक्षिण पूर्व की ओर बंगाल की उत्तरी खाड़ी की ओर जा रहा है। एक ट्रफ रेखा कर्नाटक तट से केरल तट तक फैली हुई है। ट्रफ लाइन का इस तरीके से गुजरना उत्तर प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र में अच्छी बारिश के रुप में असर देखने को मिलेगा। मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार 30 अगस्त की मानसून आंशिक रूप से सक्रिय रहेगा।

महाराजगंज में सड़कों पर डेढ़ फीट पानी
नेपाल से पानी छोड़े जाने और लगातार बारिश से महाराजगंज जिले में नारायणी, गंडक ,चंदन, महाव, रोहिन और भौरहिया नदी उफान पर है। यहां ठूठीबारी-निचलौल मार्ग का गड़ौरा पुलिस पिकेट से भरवलिया गांव की सीमा तक करीब पांच किमी तक डेढ़ फीट पानी का तेज बहाव है। पुलिस महकमा ने रास्ते पर आवागमन बंद कर दिया है। झिंगटी के पास एसएसबी बीओपी की बाउंड्री पानी में डूबी हुई है। बिशनपुरा में इन दिनों बाढ़ से जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लोग घर में रहने को मजबूर हैं।

महाराजगंज में बारिश से डूबी सड़कें।
महाराजगंज में बारिश से डूबी सड़कें।
महाराजगंज में सड़क पर पानी भरने से लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं।
महाराजगंज में सड़क पर पानी भरने से लोग अपने घरों में कैद हो गए हैं।

वाराणसी में दोपहर बाद बारिश की संभावना
वाराणसी में शनिवार की सुबह धूप निकली, लेकिन बादल छाए होने की वजह से उसका कोई खास असर नहीं दिखा। मौमस विभाग ने आज भी वाराणसी में बारिश की संभावना जताई है। शुक्रवार की दोपहर 1 घंटे तेज बारिश हुई थी। बीएचयू के मौसम वैज्ञानिक प्रो. मनोज कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि उमस अधिक होने से लोकल क्लाउड काफी तेजी से बन रहे हैं। उनकी लोकेशन निरतंर बदलती रहती है। इन्हें ही आफ्टरनून थंडरस्टॉर्म कहते हैं। उन्होंने बताया कि आगामी सोमवार के बाद से बंगाल की खाड़ी की ओर से आ रहे बादल घनघोर बारिश करा सकते हैं। फिर 2 दिन के बाद मौसम वापस सामान्य हो जाएगा।

वाराणसी में आसामान में बादल छाए हुए हैं।
वाराणसी में आसामान में बादल छाए हुए हैं।

गोरखपुर में राप्ती उफान पर

आदर्शनगर कॉलोनी में जलजमाव है। लोग घरों से निकल नहीं पा रहे हैं।
आदर्शनगर कॉलोनी में जलजमाव है। लोग घरों से निकल नहीं पा रहे हैं।

गोरखपुर में बीते तीन दिनों से लगातार बारिश से राप्ती नदी का जलस्तर बढ़ गया है। इससे निचले इलाकों में रहने वाले गांव के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। विशाल ने कहा, हमें सरकार की तरफ़ से कोई मदद नहीं मिल रही है। कोई व्यवस्था नहीं है। अभी 300-400 घर है जो पानी में डूबे हुए हैं। उधर, नंदानगर अंडरपास स्थित आदर्शनगर कॉलोनी में तीन दिनों की भारी बारिश के कारण जलजमाव हो गया है।

खबरें और भी हैं...