पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यूपी में 15622 नए कोरोना केस मिले:सबसे ज्यादा लखनऊ में 2716 मामले आए, प्रयागराज ​​​​​​​में माघ मेलाधिकारी भी ​​​​​​​संक्रमित

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश में कोरोना की रफ्तार बेकाबू हो गई है। कोरोना के 15 हजार 622 नए मामले सामने आए हैं। सबसे ज्यादा लखनऊ में 2716, गौतमबुद्ध नगर में 2154, गाजियाबाद में 1281, मेरठ में 968 और वाराणसी में 491 केस मिले हैं। इस दौरान प्रदेश में 9 लोगों की मौतें भी हुई हैं। इनमें अलीगढ़ व बदांयू में 2- 2 और इटावा, मिर्जापुर, मऊ, प्रयागराज और मुरादाबाद में 1-1 मरीज की मौत हुई है।

राज्य में एक्टिव केस की संख्या 1 लाख 616 हो गई है। बीते 24 घंटे में 12 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित रिकवर भी हुए हैं। उधर, मौतों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। बीते 17 दिनों में अब तक 57 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

प्रयागराज में माघ मेलाधिकारी संक्रमित

प्रयागराज में ADG प्रेमप्रकाश, माघ मेलाधिकारी शेषमणि पांडेय और अपर जिलाधिकारी नजूल प्रदीप कुमार यादव भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। एडीजी ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। उन्होंने अपने संपर्क में आने वालों से जांच कराने को कहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से इसकी पुष्टि भी कर दी गई है। मेलाधिकारी व एडीएम की कोविड जांच माघ मेला क्षेत्र में ही हुई थी। यहां पढ़ें पूरी खबर

इन 10 जिलों में मिले सबसे ज्यादा केस

जिलाआज मिले मरीजकुल एक्टिव केस
लखनऊ271617658
गौतमबुद्ध नगर215412348
गाजियाबाद128110507
मेरठ9688014
वाराणसी4414524
आगरा5983734
कानपुर नगर3972941
मुजफ्फरनगर4712685
गोरखपुर2962616
मुरादाबाद3233208

लखनऊ में सबसे ज्यादा 17 हजार से ज्यादा एक्टिव केस
प्रदेश में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले लखनऊ में हैं। यहां विस्फोटक अंदाज में कोरोना केस बढ़ रहे हैं। सोमवार को 2 हजार 716 नए संक्रमित यहां रिपोर्ट हुए हैं। फिलहाल 17 हजार 658 सक्रिय मरीज है। हालांकि यहां भी तेजी से रिकवर मरीजों का ग्राफ बढ़ा है। एक दिन में 1 हजार 420 मरीज रिकवर हुए। यहां पढ़ें पूरी खबर

गाजियाबाद में सीएम ने लिया तैयारियों का जायजा
सीएम योगी सोमवार को गाजियाबाद में कोरोना से निपटने की तैयारियों की समीक्षा करने के लिए पहुंचे थे। उन्होंने यहां कहा कि देश में कोरोना की तीसरी लहर है। यूपी में हालात नियंत्रण में हैं। यहां कोविड से निपटने की तैयारियां बेहतर हैं। कोरोना साधारण वायरल की तरह है।

सरकारी रिकॉर्ड में उत्तर प्रदेश में हैरान कर देने वाला रिकवरी रेट दिख रहा है। बीते 8 दिन में जितनी तेजी से केस बढ़े हैं, उससे ज्यादा रिकवर हो रहे हैं। 8 दिन के भीतर रिकवरी रेट 4 फीसदी से बढ़कर 79 फीसदी पहुंच गया है।

यूपी में हैरान कर देनी वाली रिकवरी

असिम्प्टोमेटिक मरीजों के लिए 7 दिन का है रिकवरी पीरियड
यूपी में कोविड के लिए बने स्टेट एक्सपर्ट पैनल के सीनियर मेंबर व KGMU कुलपति डॉ. बिपिन पुरी ने दैनिक भास्कर को बताया प्रदेश में ज्यादातर मरीज होम आइसोलेशन में है। इन सभी से इंटीग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर के जरिए संपर्क स्थापित किया जा रहा है। इसके अलावा सीएम के साथ टीम 9 की बैठक में निगरानी समितियों को सक्रिय रखने को कहां गया है।

रिकवरी रेट में अचानक से आई तेजी के सवाल पर डॉ. पुरी ने कहा कि ICMR की नई गाइड लाइन के मुताबिक 7 दिन का क्वारैंटाइन पीरियड निर्धारित किया गया है। बिना लक्षण वाले संक्रमितों में यानी असिम्प्टोमेटिक मरीजों के लिए 7 दिन का रिकवरी टाइम है। वही बुखार जैसे लक्षण वाले मरीजों में बुखार उतरने के 3 दिन बाद उसे रिकवर माना जाएगा।