पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लखनऊ, आगरा, बनारस एयरपोर्ट पर हाई अलर्ट:यूपी सरकार ओमिक्रॉन वैरिएंट पर जल्द जारी करेगी नई गाइडलाइन; एयरपोर्ट अथॉरिटी ने सर्विलांस बढ़ाया

लखनऊ7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एयरपोर्ट पर आने वाले हर यात्री की जांच की जा रही है। जीनोम टेस्ट के लिए निर्देश दिए गए हैं। - Money Bhaskar
एयरपोर्ट पर आने वाले हर यात्री की जांच की जा रही है। जीनोम टेस्ट के लिए निर्देश दिए गए हैं।

कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट से बचाव के लिए यूपी सरकार अगले 24 घंटे में नई गाइडलाइन जारी कर सकती है। इसके तहत संक्रमित देशों से कनेक्टिंग फ्लाइट के जरिए आने वाले यात्री सर्विलांस पर रखे जाएंगे। दक्षिण अफ्रीका से बेंगलुरू पहुंचे दो लोगों के कोविड पॉजिटिव पाए जाने के बाद खास तौर से सरकार अलर्ट पर है, हालांकि इनके नए वैरिएंट से पीड़ित होने की पुष्टि नहीं हुई है। खासकर, आगरा, मथुरा, बनारस आने वाले विदेशी पर्यटकों का पूरा ब्योरा स्वास्थ्य विभाग मेंटेन करेगा।

15 दिनों के सर्विलांस में होंगे विदेशों से आने वाले यात्री

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार दक्षिण अफ्रीका में 6, हांगकांग में 1 कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट के मरीज मिले हैं। विशेषज्ञों के अनुसार कोरोना का नया वैरिएंट वैक्सीनेशन करा चुके लोगों पर भी कहर बरपा रहा है। लखनऊ के चौधरी चरण सिंह अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर स्वास्थ्य विभाग, एयरपोर्ट अथॉरिटी, प्रवासी विभाग, एपीएचओ के अधिकारियों के साथ बैठक हुई। बोत्सवाना, दक्षिण अफ्रीका, हांग कांग, ब्राजील, बांग्लादेश, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, बेल्जियम से आने वाले यात्रियों 10 दिन तक सर्विलांस की जाएगी।

लखनऊ के डिप्टी CMO डॉ. मिलिंद वर्धन ने संक्रमित देशों से आने वाले यात्रियों की जीनोम जांच के लिए कहा गया। चर्चा में आया कि लखनऊ एयरपोर्ट पर खाड़ी देश से लोग सीधे लखनऊ आते हैं। स्वास्थ्य विभाग ने निजी और सरकारी चिकित्सीय स्वास्थ्य संस्थानों में मरीज की जांच के लिए लेटर जारी किया है। मेदांता, अपोलो, पीजीआई और केजीएमयू में सबसे ज्यादा जांच के लिए लोग पहुंचते हैं।

लखनऊ एयरपोर्ट पर सैनिटाइजेशन के साथ जांच प्रकिया को और सख्ती से लागू किया जा रहा है, ताकि संक्रमित मरीज सर्विलांस में सामने आ जाए।
लखनऊ एयरपोर्ट पर सैनिटाइजेशन के साथ जांच प्रकिया को और सख्ती से लागू किया जा रहा है, ताकि संक्रमित मरीज सर्विलांस में सामने आ जाए।

यूपी सरकार जल्द जारी कर सकती है ये गाइडलाइन

  • वैक्सीन की दोनों डोज लेने वाले करेंगे पब्लिक ट्रांसपोर्ट का इस्तेमाल
  • बिना डोज वाले शख्स के पब्लिक ट्रांसपोर्ट में पाए जाने पर 500 रुपए का जुर्माना होगा
  • पब्लिक ट्रांसपोर्ट चलाने वाले ड्राइवर और कंडक्टर पर भी 500 रुपए का जुर्माना होगा
  • ऐसे मामले में परिवहन के मालिक पर 1000 रुपए का जुर्माना हो सकता है
  • सिनेमा हॉल, थिएटर, मैरिज हॉल में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ही आयोजन होंगे।
  • खुले में आयोजन क्षमता के 25 प्रतिशत लोगों के साथ किया जा सकेगा।
  • मॉल, व्यापारिक प्रतिष्ठान, दुकानों पर दोनों डोज लगाने वाले ही जा सकेंगे।

शनिवार को देवबंद में गर्भवती महिला और बच्चा मिला पॉजिटिव

वहीं, शनिवार को देवबंद के अंबेहटा में गर्भवती महिला और उसका बच्चा कोरोना पॉजिटिव मिले। डीएम अखिलेश सिंह ने कोरोना टेस्ट बढ़ाने के लिए कहा। गाजियाबाद के CMO डॉ. भावतोष शंखधर ने अपील जारी की है। विदेश से आने वालों की जानकारी लोग खुद ही स्वास्थ्य विभाग को दें। मेरठ के सीएमओ अखिलेश मोहन ने भी तीन जोन में बांटकर वैक्सीनेशन शुरू कराया है। मेरठ में तीन पॉजिटिव मरीज है। प्रदेश के तकरीबन सभी शहरों में सक्रियता बढ़ा दी गई है।

क्या हैं ये तीन लक्षण

लगातार खांसी आना- इस कारण लगातार खांसी हो सकती है। यानी आपको एक घंटे या फिर उससे अधिक वक्त तक लगातार खांसी हो सकती है। 24 घंटों के भीतर कम से कम 3 बार इस तरह के दौरे पड़ सकते हैं। अगर आपको खांसी में बलगम आता है, तो ये भी चिंता की बात हो सकती है।

बुखार- इस वायरस के कारण ठंड लगकर बुखार आ सकता है।

गंध और स्वाद का पता नहीं चलना- विशेषज्ञों का कहना है कि बुखार और खांसी के अलावा यह भी वायरस संक्रमण का वह संभावित महत्वपूर्ण लक्षण हैं, जिन्हें नजर अंदाज नहीं करना चाहिए। आपको किसी चीज का स्वाद या गंध नहीं आएगी।

खबरें और भी हैं...