पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

UP में BJP का डैमेज कंट्रोल:OBC मंत्रियों-विधायकों के पलायन के बाद सबसे ज्यादा 40% टिकट इसी वर्ग को दिए, मुस्लिम एक भी नहीं

लखनऊ10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश में भाजपा ने अपने 107 उम्मीदवारों की सूची जारी की है। इसमें सबसे ज्यादा ओबीसी नेताओं को उम्मीदवार बनाया गया है। दरअसल, भाजपा ने ऐसा रणनीति के तहत किया है। बीते 5 दिन के दौरान बड़ी संख्या में भाजपा से ओबीसी विधायकों और मंत्रियों ने इस्तीफा देकर सपा ज्वाइन कर ली।

इसके बाद, भाजपा ने डैमेज कंट्रोल करने के लिए न सिर्फ ओबीसी नेताओं को टिकट दिया, बल्कि अपने मंच से यह भी कहा कि पार्टी ने सबसे ज्यादा ओबीसी जातियों पर भरोसा जताया है। भाजपा ने एक भी मुस्लिम को अपनी पहली लिस्ट में टिकट नहीं दिया है। महिलाओं को भी महज 10 ही टिकट दिए हैं।

सपा को छोड़ दिया जाए तो कांग्रेस और बसपा ने भी पहले और दूसरे चरण के चुनाव के लिए टिकटों की घोषणा कर दी है। सपा-आरएलडी ने अभी सिर्फ 29 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं। मायावती ने अपने कोर वोटर दलित पर कम मुस्लिमों पर ज्यादा भरोसा जताया है। फिलहाल दलितोंको बसपा से ज्यादा कांग्रेस ने टिकट दिए हैं।

आइए देखते हैं, उत्तर प्रदेश में राजनीतिक दलों ने क्या जातिगत समीकरण लगाए हैं...

भाजपा में ओबीसी को सबसे ज्यादा टिकट

जातिप्रतिशत
ओबीसी40.18%
ठाकुर18.69%
दलित18.69%
वैश्य8.41%
ब्राह्मण10.88%
पंजाबी3.73%

कांग्रेस ने 36% दलितों को टिकट दिया

दलित36%
मुस्लिम12%
ब्राह्मण20%
ठाकुर10%
पंजाबी2%
ओबीसी20%

बसपा ने 26% मुस्लिमों को टिकट दिया

मुस्लिम26.41
ब्राह्मण16.98
दलित16.98
ओबीसी22.64
वैश्य7.54
अन्य9.43

सपा-आरएलडी के 29 उम्मीदवारों में सबसे ज्यादा मुस्लिम

मुस्लिम31.03%
जाट10.3%
गुर्जर6.89%
दलित24.13%
ओबीसी10.34%
ब्राह्मण10.34%
ठाकुर6.89%
खबरें और भी हैं...