पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेटा पुलिस लाइन में, मंत्री पिता बाहर कार्यालय में जमे:हंगामा कर रहे समर्थकों से बोले केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र - 'ऐसी-वैसी कोई बात होगी तो हम साथ हैं'

लखनऊ7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अपने कार्यालय के सामने हंगामा कर रहे समर्थकाें को शांत करते मंत्री अजय मिश्र।

लखीमपुर खीरी पुलिस लाइन में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र के बेटे आशीष से बंद कमरे में पूछताछ कर रही है। इसको लेकर जिले में गहमा-गहमी है। सुबह साढ़े 10 बजे जिस वक्त आशीष पुलिस के सामने हाजिर हुआ, ठीक उसी वक्त पिता अजय मिश्र अपने संसदीय कार्यालय पर बैठे हुए थे। आशीष की गिरफ्तारी की संभावनाओं को लेकर समर्थक हंगामा करने लगे तो अजय मिश्रा बाहर आ गए। उन्होंने समर्थकों को निष्पक्ष जांच का भरोसा दिलाया। कहा- देश में कानून का राज है, हमारी सरकारें निष्पक्ष कार्रवाई पर भरोसा रखती हैं।

आगे बोले- अगर कोई ऐसी-वैसी बात होती है तो फिर हम आपके साथ है। अजय मिश्र के इस बयान को आशीष की गिरफ्तारी के बाद होने वाले हालात और सरकार को चेतावनी से जोड़ कर देखा जा रहा है। कहा जा रहा है कि अगर आशीष गिरफ्तार होते हैं तो फिर समर्थक हंगामा कर सकते हैं।

शुक्रवार को मंत्री के घर पर दूसरी नोटिस लगाई गई थी। आज आरोपी आशीष मिश्र पुलिस के सामने हाजिर हो गया।
शुक्रवार को मंत्री के घर पर दूसरी नोटिस लगाई गई थी। आज आरोपी आशीष मिश्र पुलिस के सामने हाजिर हो गया।

पिता के 'भरोसे' पर क्राइम-ब्रांच के सामने हाजिर हुआ आशीष
आशीष के नाम एफआईआर दर्ज करने के बाद पुलिस ने उन्हें हाजिर होने के लिए नोटिस दिया था। पहली नोटिस 7 अक्टूबर की शाम को इनके घर पर चस्पां कर दी गई थी। 8 अक्टूबर को आशीष नहीं पहुचे। आशीष ने पुलिस को चिट्‌ठी लिखकर बताया कि उनकी तबीयत खराब है।

हालांकि इस बीच उनके मोबाइल लोकेशन को लेकर भी सवाल उठे। देर शाम पुलिस ने दूसरा नोटिस चस्पा कर दिया। उस दौरान मंत्री अजय मिश्रा टेनी दिल्ली में थे। दिल्ली में जब अजय मिश्र को अपने बेटे के लिए आश्वासन मिल गया, तब उन्होंने बेटे को फोन कर हाजिर होने के लिए कहा। खुद लखनऊ में भी मीडिया से बात करते वक्त उन्होंने बताया था कि बेटा जांच में सहयोग करने के लिए हाजिर होगा।

सबूतों को साथ पूछताछ के लिए पहुंचा है आशीष मिश्र
खबर है कि क्राइम-ब्रांच के सामने हाजिर होने से पहले पूरा होम वर्क किया गया है। आशीष ने अपने पक्ष को मजबूत करने के लिए तमाम सबूत इकठ्ठे किए हैं। कहा जा रहा है कि आशीष क्राइम ब्रांच को दिखाने के लिए 12 से अधिक पेन-ड्राइव लेकर पहुंचा है। इनमें वो वीडियो हैं, जिससे साबित होता है कि घटना के वक्त आशीष अपने गांव के दंगल में मौजूद था। इसके साथ ही कुछ एफिडेविट भी साथ लेकर आया है, जिसमें उन लोगों के बयान हैं, जो बताते हैं कि घटना के वक्त आशीष मौका-ए-वारदात पर मौजूद नहीं था।

संयुक्त किसान मोर्चा ने दिल्ली में आज प्रेस कांफ्रेंस की।
संयुक्त किसान मोर्चा ने दिल्ली में आज प्रेस कांफ्रेंस की।

किसान मोर्चा ने अजय मिश्र की बर्खास्तगी की मांग की
इधर, संयुक्त किसान मोर्चा ने मांग की है कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा को बर्खास्त कर गिरफ्तार किया जाए क्योंकि वो 120B के आरोपी हैं। उनके बेटे को तुरंत गिरफ्तार किया जाए। जब तक बाप-बेटे की गिरफ्तारी नहीं होती, आंदोलन जारी रहेगा। अजय मिश्र के मंत्री रहते सही जांच नहीं हो सकती है।

खबरें और भी हैं...