पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे नाम दिया:गाजीपुर से लखनऊ तक विजय यात्रा निकालेंगे अखिलेश, एक्सप्रेस वे पर आने से पहले सपा ने सड़क को समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस लिख दिया

लखनऊ6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एक्सप्रेस वे लोगों ने समाजवाद एक्सप्रेस वे लिख दिया। - Money Bhaskar
एक्सप्रेस वे लोगों ने समाजवाद एक्सप्रेस वे लिख दिया।

गाजीपुर से आजमगढ़ तक की विजय यात्रा की अनुमति नहीं मिलने के बाद सपा मुखिया अखिलेश यादव एक दिन बाद यानि 17 नवंबर को गाजीपुर से लखनऊ तक विजय यात्रा निकाल रहे हैं। वहीं दूसरी ओर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को लेकर मचे घमासान के बीच सपा कार्यकर्ताओं ने 16 नवंबर की रात से ही वहां पर डेरा डाल दिया है। कार्यकर्ता पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर जगह-जगह अखिलेश यादव के स्वागत की तैयारियां की रहे हैं। कई कार्यकर्ताओं ने बीच सड़क पर एक्सप्रेस-वे को 'पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे' संबोधित करते हुए स्लोगन लिखे हैं।

16 नवंबर के कार्यक्रम को नहीं मिली थी अनुमति
16 नवंबर को गाजीपुर से आजमगढ़ के लिए विजय यात्रा निकाली जानी तय की गई थी। उसी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन करने आ रहे थे। ऐसे में वहां पर आवागमन को रोक दिया गया था। जिसके बाद अखिलेश यादव के कार्यक्रम को गाजीपुर प्रशासन ने अनुमति नहीं दी थी। प्रशासन का तर्क था कि पीएम मोदी के कार्यक्रम की परिस्थितियों में किसी भी प्रकार के दूसरे सार्वजनिक कार्यक्रमों को अनुमति नहीं दी जा सकती थी। समाजवादी पार्टी की ओर से कार्यक्रम की अनुमति मांगी गई थी। जिसके अनुसार 16 नवंबर को नीजि हेलीकॉप्टर के द्वारा अखिलेश यादव बनारस एयरपोर्ट से करीब 11 बजे उड़ान भरते और 11:30 बजे वे गाजीपुर के भांवरकोल स्थित पखनपुरा (हैदरिया) पर उतरते। जहां से अखिलेश यादव कार द्वारा 11:40 बजे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के ही निकट शिवनारायण के खेत में पहुंचते जहां पर 11:45 बजे जनसभा होती। उसके बाद 12:30 बजे वे पखनपुरा से जनसंपर्क करते हुए आजमगढ़ के लिए रवाना होते। उनके इस कार्यक्रम को अनुमति देने से गाजीपुर जिला प्रशासन ने मना कर दिया।

कार्यकर्ता बोले- हमारे नेता की देन है एक्सप्रेस-वे
समाजवादी युवजन सभा के प्रदेश सचिव रवि प्रकाश यादव ने बताया कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की नींव हमारे नेता अखिलेश यादव ने अपने मुख्यमंत्रित्वकाल में रखी थी। आज योगी सरकार ने आने के बाद इसका नाम भी बदल दिया है। सपा की सरकार के दौरान इसका नाम समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे रखा गया था। योगी की सरकार ने न सिर्फ नाम बदला बल्कि मानकों की भी अनदेखी की है। रवि ने कहा कि योगी सरकार चाहे जितने उद्घाटन का दिखावा कर ले, लेकिन जनता पूरी सच्चाई जानती है। उन्होंने कहा कि आज अखिलेश यादव गाजीपुर से लखनऊ तक विजय यात्रा निकाल रहे हैं। उनके स्वागत को लेकर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर जगह-जगह तैयारियां की गईं हैं।