पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फर्जीवाड़े पर पुलिस नही हुई सख्त:लखनऊ मेट्रो कार्यालय पर हर महीने नौकरी मांगने पहुंच रहे 400 युवा, फेक वेबसाइट से मिल रही जानकारी

लखनऊ9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जालसाजों के ठगी के लिए बिछाए गए जाल में बड़ी संख्या में बेरोजगार फंस रहे हैं। इसका अंदाजा मेट्रो कार्यालय पहुंचने वालों से लगाया जा रहा है। मेट्रो की तरफ से सूचना जारी करने के बाद भी पुलिस फर्जी वेबसाइट्स को बंद नही करवा पाई। इसकी वजह से नौकरी के लिए युवाओं को चक्कर लगाने पड़ रहे हैं।

लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (LMRC) की फर्जी वेबसाइट बनाकर चल रहे फर्जीवाड़े का खुलासा मेट्रो की तरफ से करीब एक सप्ताह पहले किया गया था। मेट्रो की तरफ से स्पष्ट किया गया कि किसी तरह की भर्ती का विज्ञापन नही निकाला गया है। जिन वेबसाइट्स पर लोगों को भर्तियों की जानकारी मिल रही है, वह फर्जी हैं। लेकिन, इस सूचना के बाद भी पुलिस सक्रिय नही हुई। न तो वेबसाइट बंद हुई, न इन्हें संचालित कर रहे जालसाज पकड़े गए।

LMRC ने स्पष्ट किया था कि किसी तरह की भर्ती का विज्ञापन नही निकाला गया है।
LMRC ने स्पष्ट किया था कि किसी तरह की भर्ती का विज्ञापन नही निकाला गया है।

रोजाना 10-15 युवा पहुंचते हैं नौकरी के लिए
लखनऊ मेट्रो के अधिकारियों ने बताया कि अभी तक चल रही फर्जी वेबसाइट से जानकारी पाकर हर रोज लोग कार्यालय पहुंच रहे हैं। उनका कहना है रोजाना 10 से 15 युवा कार्यालय पहुंचकर भर्ती के बारे में जानकारी मांगते हैं। पूछताछ करने पर पता चलता है कि उन्हें किसी वेबसाइट से जानकारी मिली है। अफसरों का कहना है कि ऑनलाइन आवेदन के नाम पर जालसाज मोटी रकम जमा करा लें रहे हैं। इसपर रोक लगाने के लिए सूचना जारी की गई थी। लेकिन, पुलिस की तरफ से अभी तक कोई एक्शन नही लिया गया।

खबरें और भी हैं...