पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मडावरा क्षेत्र में चौथी बार चोरों ने उठाई मोटरसाइकिल:एक महीने के अंदर दिया सभी घटना को अंजाम, किसी भी वारदात का खुलासा नहीं कर सकी पुलिस

मडावरा, ललितपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीसीटीवी में कैद हुई चोरी की घटना का फाइल फोटो। - Money Bhaskar
सीसीटीवी में कैद हुई चोरी की घटना का फाइल फोटो।

ललितपुर जिले के मड़ावरा कस्बे में इन दिनों चोरी की घटनाओं में दिन--प्रतिदिन इजाफा होता जा रहा है। देर रात चोरों ने एक और बाइक चोरी की घटना को अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दी है। अब तक क्षेत्र में चार मोटरसाइकल उठाई जा चुकी हैं। इनमें से एक भी घटना का खुलासा नहीं हुआ है।

13 अप्रैल को हुई पहली घटना

बाइक चोरी का सिलसिला 13 अप्रैल से शुरू होता है, जब सीरोन निवासी व्यक्ति अपनी बाइक को बैंक के सामने पार्क करके बैंक के अंदर काम से चला गया। इसके बाद जब वह बैंक से बाहर आता है, तो उसके पार्क किए स्थान से बाइक गायब मिलती है, जिसके बाद उसने पुलिस से शिकायत की।

सीसीटीवी में कैद चोर।
सीसीटीवी में कैद चोर।

दूसरा मामला कस्बे के डाक बंगला के पास का है। चालक अपनी बाइक खड़ी करके खरीदारी करने लगता है। इसी दौरान उसकी बाइक चोर उठाकर ले जाते हैं। जिसके बाद पीड़ित काफी खोजबीन करता है, लेकिन बाइक का कोई सुराग नहीं लगता है। थाने में बाइक चोरी की शिकायत दर्ज कराई गई है।

तीसरा मामला अंग्रेजी शराब की दुकान वाली गली का है। जहां एक ग्रामीण अपनी बाइक को पार्क करके बगल में सामान खरीदने चला जाता है। वापस आने पर मौके से उसकी बाइक गायब मिलती है। वारदात पास में लगे सीसीटीवी कैमरे कैद हो जाती।

चौथा मामला सोमवार देर रात का है, जब कस्बे के प्रकाश मेडिकल स्टोर के पास से दैनपुरा मुड़िया निवासी व्यक्ति की बाइक को चोर उठा ले गए। बाइक चालक आस--पास मोटरसाइकल की तलाश करता है, लेकिन सुराग नहीं लग पाता है।

पेट्रोल पम्प से चोरी

बाइक चोरी के अलावा बदमाशों ने कस्बे के एक पेट्रोलपंप को भी बीते दिनों निशाना बनाया था। जिसमें पल्सर बाइक सवार ने ऑफिस में रखे मोबाइल फोन और छह सौ रुपये चुरा लिए थे। चोरी की वारदात पेट्रोलपंप के सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गई थी। मामले की जानकारी मिलने पर मड़ावरा पुलिस जांच कर रही है, लेकिन अभी तक घटना का खुलासा नहीं हो सका है। कस्बे में हो रही चोरी की घटनाएं पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बनी हुईं है। जिसे रोकने में अभी तक पुलिस नाकाम साबित रही है। वहीं, एक भी घटना का अभी तक खुलासा नहीं कर सकी है।