पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

किसानों को मिलेगा कार्बन क्रेडिट का लाभ:किसानों को अपनी निजी भूमि पर पौधरोपण के लिए किया जा रहा प्रेरित, लाभ के लिए देना होगा प्रमाण पत्र

पलिया,लखीमपुर खीरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कृषि वानिकी के तहत पौधरोपण करने वाले किसानों को कार्बन क्रेडिट का फायदा मिलेगा। इससे किसान प्रत्येक पेड़ पर कार्बन क्रेडिट के रूप में प्रति वर्ष 200 से 250 रूपये तक प्राप्त कर सकेंगे। कार्बन क्रेडिट बिक्री में वन विभाग किसानों की मदद करेगा।

क्षेत्रीय वन अधिकारी सम्पूर्णानगर रेंज ने बताया कि किसानों को यूकेलिप्टस, पॉपुलर, सागौन, सेमल और शीशम जैसे पेड़ों की प्रजातियों के लिए पौधरोपण के प्रचलित मॉडल के आधार पर कार्बन क्रेडिट का लाभ मिलेगा। क्षेत्रीय वन अधिकारी शिव बाबू सरोज ने बताया कि कार्बन क्रेडिट किसी देश द्वारा अपने पर्यावरण परिवेश में हानिकारक गैसों की उत्सर्जन क्षमता को कम करने पर उसे विश्व सम्मेलन द्वारा दिया जाता है।

कार्बन क्रेडिट के लिए किसानों को किया जा रहा है प्रेरित

कार्बन क्रेडिट को एक प्रकार से वन द्वारा संजोए कार्बन की बिक्री से प्राप्त कीमत कहा जा सकता है। क्षेत्रीय वन अधिकारी ने बताया कि किसानों के लिये विशेष लाभकारी योजना को सफल बनाने के लिये किसानों के अपनी निजी भूमि पर कृषि वानिकी के तहत बड़े पैमाने पर पौधरोपण के लिए प्रेरित किया जा रहा है। कार्बन क्रेडिट का यह लाभ उन किसानों को मिल सकेगा, जिन्होंने कम से कम 25 पेड़ या उससे अधिक पेड़ वर्ष 2018, 2019, 2020, व वर्ष 2021 में लगाये हों।

क्षेत्रीय वन अधिकारी सम्पूर्णानगर रेंज शिव बाबू सरोज ने क्षेत्र के किसानों से कहा है कि वे कार्यक्रम से जुड़ने के लिये उनके मोबाइल नंबर 9519414558 पर या सीधे रेंज कार्यालय सम्पूर्णानगर पहुंचकर संपर्क कर सकते हैं। कार्बन क्रेडिट का लाभ लेने के लिए किसानों को अपना नाम, पता, बैंक अकाउंट का विवरण, आईएफएससी कोड सहित, आधार नंबर, कृषि वानिकी का क्षेत्रफल, भूमि की खसरा, खतौनी, मोबाइल नंबर आदि वन विभाग को उपलब्ध कराना होगा।

खबरें और भी हैं...