पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बच्ची के गले में घुसा सरिया मुंह से आर-पार हुआ:लखीमपुर में खेलते समय गिरी थी, 2 घंटे बाद डॉक्टरों ने निकाला

लखीमपुर-खीरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखीमपुर खीरी में बकरी चराने गई एक बच्ची के गले में सरिया घुस गया। सरिया बच्ची के गले में घुसा और मुंह से बाहर जा निकला। गनीमत रही की बच्ची का मुंह खुला हुआ था। नहीं तो अनहोनी हो सकती थी।

बच्ची घर से 1.5 किलोमीटर दूर बकरी चराने गई थी। वहां पर वह कई अन्य बच्चों के साथ खेलने लगी। पास में ही बने प्लाट में सरिया पड़ा था। बच्ची खेलते-खेलते सरिया के ऊपर गिर गई और सरिया उसके गले में घुस गया।हादसा नीमगांव थाना क्षेत्र के भूलनपुर गांव का है। बच्ची का नाम तैयबा है और वह भूलनपुर निवासी इसरार की बेटी है। तैयबा बकरी चराने के लिए खेतों की तरफ गई हुई थी। वहीं खेतों पर बच्चे खेल रहे थे। तैयबा भी वहीं पर बच्चों के साथ खेलने लगी। उसी दौरान हादसा हो गया।

अस्पताल में इलाज के लिए पहुंची बच्ची।
अस्पताल में इलाज के लिए पहुंची बच्ची।

इसके बाद प्लाट में काम कर रहा गांव का एक व्यक्ति भागता हुआ इसरार के पास पहुंचा। उसने इसरार को बताया कि उसकी बेटी के गले में सरिया घुस गया है। बच्ची का पिता दौड़ता हुआ अपनी बेटी के पास पहुंचा। उसने बच्ची को गोद में उठाया। इसके पहले ही किसी ग्रामीण ने एंबुलेंस को कॉल कर दिया था। थोड़ी ही देर में एंबुलेंस इसरार के घर पहुंची और बच्ची को लेकर जिला अस्पताल के लिए चल दी।
पिता बोला- दर्द से कराह रही थी बच्ची
बच्ची के पिता ने बताया, ''जब मैं अपनी बेटी के पास पहुंचा, तो वह दर्द से कराह रही थी। मैं उसके पास पहुंचा और उसे गोदी में उठाकर घर ले आया। इसी बीच एंबुलेंस आ गई। बेटी पूरे रास्ते तड़पती और दर्द से कराहती रही। हम लोग अस्पताल पहुंचे और लगभग दो घंटे बाद बच्ची के गले से सरिया निकाला गया। फिलहाल अब बच्ची स्वस्थ है और डॉक्टर उसकी देख-रेख कर रहे हैं।''

डॉक्टर बच्ची के गले में फंसा हुआ सरिया निकालते।
डॉक्टर बच्ची के गले में फंसा हुआ सरिया निकालते।

खेतों में हो रही थी प्लाटिंग
खेत में प्लाटिंग हो रही थी। सभी बच्चे वहां पर खेल रहे थे। खेलते-खेलते तैयबा गिर पड़ी। गिरने से उसका पैर सरिया पर पड़ा और वह सीधी होकर उसके गले में घुस गई। गले में घुसकर सरिया मुंह में निकली। सरिया की लंबाई 3 फुट बताई जा रही है। परिजन बच्ची को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे।

बच्ची के गले से डॉक्टर ने सरिया निकाला।
बच्ची के गले से डॉक्टर ने सरिया निकाला।

जिला अस्पताल में चल रहा बच्ची का इलाज
परिजन बच्ची को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। जहां पर इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर की सूचना पर सर्जन डॉ. राजकुमार कोहली मौके पर पहुंचे। उन्होंने बच्ची के गले में फंसी सरिया को निकाल दिया है। बच्ची सकुशल है। दो घंटे बाद ऑपरेशन किया गया।

खबरें और भी हैं...