पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पति की निशानी बचाने के लिए पत्नी का संघर्ष:91 वर्षीय महिला ने कहा- कुएं पर दबंग कर रहे कब्जा, 60 साल पहले पति ने खुदवाया था

लखीमपुर-खीरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखीमपुर-खीरी के कुम्हेना गांव में 91 वर्षीय महिला पति की निशानी बचाने के लिए पिछले दो महीने से संघर्ष कर रही है। महिला ने मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत की थी, लेकिन धौरहरा पुलिस ने फर्जी रिपोर्ट लगाकर मामले को दबा दिया। महिला को पता चला तो उसके बेटे ने जिलाधिकारी से मिलकर शिकायती पत्र दिया है। साथ ही कुएं को बचाने के लिए गुहार लगाई।

करीब 60 साल पहले धौरहरा कोतवाली क्षेत्र के गांव कुम्हेना की रहने वाली शांति देवी के पति महानंद ने गांव में एक कुएं का निर्माण करवाया था। तब से लेकर अब तक गांव के सभी लोग उस कुएं से पानी पीने के साथ ही विवाह की रस्में अदा करते आ रहे हैं। आरोप है कि अब उस पर पड़ोस में रहने वाले दबंग कनौजी कब्जा करना चाहता है। जिसका विरोध शांति देवी और उनका परिवार कर रहा है।

पूरा गांव पीता है कुएं का पानी
शांति देवी के बेटे राजकुमार ने बताया कि मां के कहने पर दो महीने पहले मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत की थी। जिस पर पुलिस ने गलत रिपोर्ट लगाकर शासन को भेज दी। जब इसकी जानकारी हुई तो उसने अपर जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर मामले की जानकारी दी।

अधिकारी ने कहा- मिट्टी डाल कर ढक दिया गया
शिकायत में राजकुमार ने बताया कि आईजीआरएस (स्टांप और पंजीकरण विभाग) पर शिकायत करना धौरहरा पुलिस के लिए किसी मजाक से कम नहीं है। पोर्टल पर शिकायत करने के बाद उपनिरीक्षक विजय शंकर सिंह ने बिना जांच किए ही कुएं को करीब नव वर्ष पहले मिट्टी डालकर ढक दिए जाने की रिपोर्ट लगा दी।

जबकि कुआं अभी भी मौजूद है। इस बाबत धौरहरा कोतवाल डीपी शुक्ला ने बताया कि यदि कुआं होने के बाद भी न होने की हल्का इंचार्ज के द्वारा पोर्टल पर रिपोर्ट लगाई गई है तो गलत है। पुनः जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...