पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

200 बेड वाले हॉस्पिटल पहुंचे ACMO:12 दिमागी बुखार इलाज केंद्र पर 24 घंटे डॉक्टरों की तैनाती, नौ बच्चों का जाना हाल-चाल

लखीमपुर-खीरी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखीमपुर खीरी में चिकित्सालय ओयल एनआरसी में भर्ती 9 बच्चों का हाल-चाल लेने सीएमओ डॉ. शैलेंद्र भटनागर के निर्देश पर एसीएमओ डॉ. कुलदीप आदिम पहुंचे। इस दौरान उनके साथ जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. शैलेंद्र श्रीवास्तव मौजूद रहे।

एसीएमओ डॉ. कुलदीप आदि में जानकारी देते हुए बताया कि सीएमओ डॉ. शैलेंद्र भटनागर ने मौसम में होने वाले बदलाव के दृष्टिगत बच्चों को संचारी रोग से बचाने को लेकर दिमागी बुखार इलाज केंद्र में 24 घंटे डॉक्टरों की तैनाती के निर्देश दिए हैं। इसी के साथ पीकू वार्ड में 10 बेड बच्चों के लिए सुरक्षित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने यह भी बताया कि भीषण गर्मी के चलते और आने वाली बारिश के मद्देनजर संचारी रोगों के बढ़ने का खतरा भी मंडराने लगा है।

संचारी रोगों के बारे दी जानकारी
उन्होंने एनआरसी में भर्ती 9 बच्चों का उनके परिजनों से हालचाल जाना। साथ ही संचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत (ईटीसी) दिमागी बुखार इलाज केंद्र में 24 घंटे डॉक्टरों की तैनाती के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ब्लॉक स्तर पर 11 दिमागी बुखार इलाज केंद्र हैं। जहां पर मलेरिया और डेंगू की जांच भी की जाती है।

बच्चों पीकू वार्ड में किया गया है शिफ्ट
इसी के साथ जिला स्तर पर संचारी रोगों से संबंधित पांचों जांचे, जिनमें मलेरिया, डेंगू सहित चिकनगुनिया, जेई व स्क्रफटायफस की जांच शामिल हैं। संचारी रोगों से ग्रसित गंभीर बच्चों के लिए पीकू वार्ड में 10 बेड सुरक्षित रखने के निर्देश दिए हैं। इसी के साथ उन्होंने अपील की है कि लोग झोलाछाप की शरण में न जाकर जिला अस्पताल में सीएचसी पीएचसी पर इलाज कराएं।

खबरें और भी हैं...