पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मां-बाप ने 30 हजार में बेच दिया बच्चा:शराब के लिए 2 माह के बच्चे का आशा बहू के जरिए किया सौदा; लखीमपुर की घटना

लखीमपुर-खीरी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखीमपुर खीरी में मां-बाप ने अपने 2 महीने के बच्चे का सौदा 30 हजार रुपए में कर दिया। पति-पत्नी शराब के आदी हैं। उनके पास जब शराब खरीदने के पैसे खत्म हो गए तो उन्होंने अपने 2 महीने के बच्चे को बेचने का प्लान बनाया। गांव की आशा बहू से 7 दिन पहले बच्चे को बेचने की बात कही। इसके बाद रविवार सुबह उनके बच्चे को हरदोई के एक दंपति ने खरीद लिया।

ग्रामीणों ने की पुलिस से शिकायत
यह मामला रहरिया गांव का है। बच्चे को भेजने वाले पिता का नाम जगतार सिंह हैं। पुलिस ने बताया कि गांव के लोगों को जब बच्चा बेचने की जानकारी हुई तो वो नाराज हो गए। उन्होंने पुलिस से शिकायत की। पुलिस ने 3 टीमें बच्चे की तलाश के लिए बनाई। आशा बहू निर्मला को तलाश किया गया। पुलिस ने उससे उस दंपति के बारे में जानकारी ली, जिसने बच्चे को खरीदा। पुलिस आशा बहू को लेकर हरदोई गई। रविवार देर रात बच्चे को हरदोई की शाहबाद तहसील से बरामद कर लिया।

यह फोटो उस महिला की है जिसने बच्चे को खरीदा था। शादी के 12 साल बाद भी जब बच्चा नहीं हुआ तो उन्होंने बच्चे को खरीदा था।
यह फोटो उस महिला की है जिसने बच्चे को खरीदा था। शादी के 12 साल बाद भी जब बच्चा नहीं हुआ तो उन्होंने बच्चे को खरीदा था।

हरदोई के जिस दंपति ने बच्चे को खरीदा उनके कोई बच्चा नहीं था
हरदोई के जिस दंपति को बच्चे ने खरीदा है, उनकी शादी को 12 साल हो चुके हैं। उनके अभी तक कोई भी संतान नहीं है। वहीं, शराबी दंपति का एक 9 साल का बेटा है। वह पढ़ाई कर रहा है। जिस आशा बहू ने बच्चा बिकवाया था वो 7 साल से गांव में काम कर रही है। उसी ने अपने रिश्तेदार के माध्यम से बच्चे बिकने की बात हरदोई में मुस्लिम दंपति तक पहुंचाई थी।

पुलिस ने 30 हजार रुपए करवाए वापस
जगतार और उसकी पत्नी 1 एकड़ जमीन में खेती करते हैं। उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। खेती का पैसा भी शराब पीने में जाता है। इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह ने कहा कि मामला बेहद गंभीर है। बच्चे को चाइल्ड लाइन को दिया गया है। चाइल्ड लाइन जैसा निर्देश देगा उसी हिसाब से आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। दंपति को 30 हजार रुपए वापस कर दिए गए हैं।

खबरें और भी हैं...