पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भतीजा ही निकला ताऊ का हत्यारा:जमुनहिया में हिस्ट्रीशीटर ने विरोधियों को फंसाने के लिए गोली मारकर की थी हत्या

मितौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जमुनहिया में हिस्ट्रीशीटर ने विरोधियों को फंसाने के लिए गोली मारकर की थी हत्या। - Money Bhaskar
जमुनहिया में हिस्ट्रीशीटर ने विरोधियों को फंसाने के लिए गोली मारकर की थी हत्या।

कोतवाली मितौली क्षेत्र के जमुनहिया गांव में 80 वर्षीय शब्बीर की हत्या के मामले में भतीजा ही कातिल निकला है। गांव के लोगों को फंसाने के लिए उसने अपने ताऊ की गोली मारकर की हत्या कर दी थी। 14 मई की रात में 80 वर्षीय शब्बीर की हत्या कर दी गई थी। परिजनों ने गांव के लोगों पर जमीनी विवाद में हत्या का आरोप लगाकर लिखित तहरीर दी थी।

एडिशनल एसपी ने बनाई छानबीन के लिए टीम
सूचना पाकर थानाध्यक्ष मितौली, सीओ मितौली अभय प्रताप मल्ल व एडिशनल एसपी अरुण कुमार ने घटनास्थल की जांच शुरू की। शक की सुई के आधार पर पुलिस की छानबीन में हत्यारा मुस्ताक आखिर पकड़ में आ ही गया। शातिर हत्यारे ने शब्बीर की हत्या का जो ताना-बाना बुना था उसका पुलिस ने जल्द ही खुलासा कर दिया। कड़ी पूछताछ में मुस्ताक ने अपना जुर्म स्वीकार किया। नवी पुत्र शब्बीर और संजय पुत्र बालक राम आदि के बीच जमीनी विवाद को लेकर जो फैसला हुआ था उसमें जमीन संजय को मिली थी, जिस पर शब्बीर का कब्जा था।

हत्या की साजिश
संजय पुत्र बालक राम, नैमिष, पप्पू, सोनू पुत्रगण ओमप्रकाश, शुभम पुत्र अशोक और अपनी पत्नी के प्रेमी मुबारक पुत्र मोहम्मद को फंसाने के लिए अपने 80 वर्षीय ताऊ शब्बीर को रात में गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया। इसकी मृतक शब्बीर के परिजनों ने पुलिस को तहरीर देकर विपक्षियों पर कार्यवाही किए जाने की मांग की गई थी। पुलिस ने घटना का खुलासा करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

आरोपी है हिस्ट्रीशीटर
हत्या की घटना का खुलासा करने वाली टीम में थाना अध्यक्ष सुनीत कुमार, उपनिरीक्षक महताब सिंह, कांस्टेबल विपिन चौधरी, कांस्टेबल जसविंदर सिंह, कांस्टेबल अरुण कुमार ने शब्बीर के हत्यारे को गहन पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। हत्या करने वाले मुस्ताक की निशानदेही पर मितौली पुलिस ने 315 बोर तमंचा 315 बोर कारतूस 315 बोर खोखा व घटना के समय पहनी गई शर्ट बरामद की है। हत्या करने वाले मुस्ताक पर पहले से कई प्रकरण दर्ज हैं, जिस मुस्ताक ने शब्बीर को गोली मारकर मौत के घाट उतारा व थाने का मजारिया हिस्ट्रीशीटर भी है।

खबरें और भी हैं...